पश्चिम बंगाल के स्कूल टेस्ट में जय श्री राम के नारे को लेकर पूछा गया आपत्तिजनक सवाल

1601

पश्चिम बंगाल सरकार बच्चों के दिलो दिमाग में किस कदर ज़हर भर रही है इसका एक मामला सामने आया है क्जिस पर जमकर विवाद हो रहा है . सरकारी स्कूल के 10 वीं क्लास के टेस्ट में दो ऐसे सवाल पूछे गए जीको लेकर बवाल मच गया है .पहला सवाल पूछा गया कि “जय श्री राम के नारे से समाज पर क्या दुष्प्रभाव पड़ रहा है?” और दूसरा सवाल पूछा गया कि कट मनी लौटाने के सरकार के फैसले से क्या फायदा होगा?” ये प्रश्नपत्र सामने आने के बाद अब बवाल शुरू हो गया है .

मामला है कोलकाता से 55 किलोमीटर दूर हुगली जिले के अकना यूनियन हाई स्कूल का . 5 अगस्त को बंगाली में हुए टेस्ट में 10वीं क्लास के छात्रों को दो टॉपिक दिया गया और उनसे इसपर अखबार के लिए एक रिपोर्ट लिखने को कहा गया . ये टॉपिक थे “जय श्री राम का जप करने वाले समाज पर हानिकारक प्रभाव” या “सरकार के साहसिक कदम’ कटे हुए पैसे को वापस करके भ्रष्टाचार को रोकना.”

न्यू इन्डियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक़ छात्रों से इन सवालों के जवाब 150 शब्दों में देने को कहा गया था . स्कूल के प्रभारी शिक्षक रोहित कुमार पायने का कहना है कि टेस्ट 2 बजे शुरू हुआ और 3:45 में ख़त्म होना था .जन हमें इस बारे में पता चला तो परीक्षा ख़त्म होने में बस 5 मिनट बचे थे . बच्चों ने इसके जवाब भी लिख लिए थे . फिर हमने इन दोनों सवालों को रद्द कर दिया . इन सवालों का चयन बांग्ला भाषा के शिक्षक सुभाशीष घोष ने किया था.

प्रतीकात्मक तस्वीर

मामले के सामने आने के बाद बवाल मच गया . सुभाशीष घोष के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर स्कूल के कुछ छात्रों के अभिभावकों ने गुरुवार को संस्थान के सामने प्रदर्शन किया. ग्राम प्रधान ने कहा है कि इस तरह के सवाल नहीं पूछे जाने चाहिए थे . ये बहुत ही गलत है और बच्चों के दिमाग पर गलत असर डाल सकता है .