क्या गौतम गंभीर दिल्ली की जनता से झूठ बोल रहे हैं?

344

पूर्वी दिल्ली से सांसद बनने के बाद गौतम गंभीर अब एक्शन मोड में आ गये हैं. जिन कामों को पूरा करने के लिए केर्जिवाल सरकार पांच साल लगा दिया और शायद उनकी सरकार का कार्यकाल खत्म होने के बाद भी उसे पूरा नही कर पायेंगे उसे गौतम गंभीर ने सांसद बनने के बाद कुछ ही दिनों में शुरू कर दिया है. दरअसल सांसद गौतम गंभीर ने अपने संसदीय क्षेत्र में सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू किया है। उन्होंने इससे जुड़ा एक वीडियो ट्विटर पर शेयर करते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर तंज भी कसा है।

गौतम गंभीर ने ट्वीटर पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि ऊपरवाला अब और क़रीब से देखेगा!!! मेरी माताओं, बहनों की safety व overall crime control करने के लिए मैंने आज से अपनी constituency में CCTV कैमरे लगवाने का काम शुरू करवा दिया है। Thank u Hawkeye Systems. वैसे Muffler वाले Sir ji मेरा एक कैमरा आपके झूठे वादों पर भी focussed है।

इसके साथ ही गंभीर ने वो वीडियो भी शेयर किया है जिसमें आप साफ़ देख सकते हैं कि कैमरा इंस्टाल करने गयी टीम वीडियो के जरिये बता रही हैं कि कहाँ पर कितने कैमरे लगाए गये हैं और कैमरे कौन से एरिया को कवर करने वाले हैं.
इस ट्वीट के बाद कई लोगों ने गौतम गभीर के इस कदम की तारीफ की लेकिन कुछ लोगों गंभीर पर गभीर आरोप तक लगा दिया. वेद प्रकाश नाम के यूजर ने लिखा कि क्रेडिट चोर बहुत देखें लेकिन तेरे जैसा नही ..
अमित मिश्रा नाम के यूजर ने लिखा कि 15 अगस्त और 26 जनवरी के समय केंद्र सरकार सुरक्षा के मद्देनजर दिल्ली में कैमरे लग जाती है यह उसी का वीडियो है जो गंभीर ने आज पोस्ट किया है… कितना फर्जी इंसान है यह गंभीर..


ऐसे एक दो नही बल्कि कई लोगों ने गंभीर को झूठा कहाँ, क्रेडिट चोर कहा… इसमें से कुछ आम आदमी के कार्यकर्ता भी थे. लेकिन अब सवाल तो यही है कि क्या सच में गभीर ने लोगों से झूठा बोला… इसका जवाब भी गभीर के अगले ट्वीट में हैं. जिसमें उन्होंने इन लोगों को जबरदस्त जवाब दिया है.


जवाब में गंभीर ने लिखा है कि मेरे प्यार सरजी गैंग के मित्र ..जो लोग रात के खाने और सुबह के नास्ते पर स्टोरी बनाकर षडयंत्र रच रहे हैं वो ये अटैचमेंट देखे. मैंने हाकआई से अनुरोध किया था तो उन्होंने स्वेच्छा से ये काम किया है.. ये पत्र इस ट्वीट के साथ गंभीर ने अटैच किया है उसमे गौतम गंभीर को कोट करते हाकआई की तरफ से साफ़ साफ़ लिखा है कि जैसा कि हमारे बीच इस बात को लेकर बातचीत हुई थी कि हम दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर योगदान देना चाहते हैं तो हमने इस दिशा में कम शुरू कर दिया है. कंपनी का कहना है कि हम पचास कैमरे लगाना चाहते हैं. ये उनके लिए सम्मान की बात होगी। इस पत्र में Hawkeye Systems ने कहा है कि गंभीर की स्वीकृति के बाद 3 से 4 सप्ताह में सारे कैमरे लग जाएँगे।


अब गंभीर के इस जवाब के बाद उन लोगों कि जुबान पर ताला लग गया जो लोग इसे झूठा बता रहे हैं या फिर इसे केजरीवाल की योजना के काम बताकर गम्भीर अपना काम बताकर खुद क्रेडिट ले रहे हैं ऐसा कहने वाले लोग भी चुप हो गये हैं.
आपको बता दें कि गम्भीर ने लोकसभा चुनाव में अपने क्षेत्र के लोगों से वादा किया था कि वे महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी लगवाएंगे. अब उसका काम भी शुरू हो चूका है. वहीँ अरविन्द केजरीवाल सरकार के पांच साल पूरे हो रहे हैं लेकिन अभी तक दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे का काम पूरा नही हो पाया है. यहाँ आपको बता दें कि क्रिकेटर से नेता बने गंभीर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार आतिशी मार्लेना और कांग्रेस के अरविंदर सिंह लबली को हराकर जीत हासिल की है.