FaceApp का यूज़ अगर आप भी कर रहे हैं तो हो जाएँ सावधान

1761

कुछ दिनों से एक मोबाइल ऐप काफ़ी चर्चा में है. ऐप का नाम Faceapp है , इन दिनों सेलेब्रिटीज़ से लेकर आम लोगों में ये काफ़ी पॉपुलर हो गया है. ये app फ़ोटो में मौजूद आपके चेहरे को बदल सकता है, आपको ये दिखा सकता है कि आप दशकों बाद बूढ़े हो कर कैसे दिखेंगे.

इस इंट्रेस्टिंग फ़ीचर की वजह से इस ऐप की लोकप्रियता अचानक से ही काफ़ी बढ़ गयी है. पिछले एक हफ्ते से ही ये ऐप प्ले स्टोर और ऐप स्टोर पर टॉप ट्रेंडिंग फ्री ऐप बना हुआ है. लेकिन अब इससे जुड़ी एक कर ख़बर आ रही है जिससे एक नया बवाल मचा गया है. बताया जा रहा है कि ये ऐप रूस के शहर st. Petersburg में वायरलेस लैब में डिज़ाइन किया गया था. अबतक हज़ारों लाखों यूज़रों ने अपने data को इस ऐप के ज़रिए साझा किया है. इस बात की गंभीरता तब सामने आई जब न्यूयॉर्क पोस्ट ने अपनी एक खबर में हैंडल लगाया कि ” रूस के पास अब आपके सभी पुराने फोटोज़ है”

पिछले ही हफ्ते डेमोक्रेटिक नेशनल कमिटी ने एक अलर्ट ज़ारी किया, जिसमे प्रेसीडेंट पर मौजूदा कर्मचारियों से रूस से अपने ख़राब रिश्तों का हवाला देते हुए ये अपील की कि इस ऐप को तुरंत ही हटा दें.

लेकिन स्मार्टफोन ऍप्स के ज्ञाता और फ्राँसीय शोधकर्ता बैप्टिस रोबर्ट ने इस बात को साफ़ कर दिया है कि इस बात में कितनी सच्चाई है. दरसअल रोबर्ट ने अपने बयान में कहा है कि ये ऐप आप से आपके बारे में साधारण जानकारी ही मांगता है. जो जानकारी आप देते हैं उतनी ही जानकारी इसके डेटाबेस में होती है, और जो भी जानकारी ये ऐप आप से मांगता है वो बेहद मामूली है, जिसका इस्तेमाल हैकिंग जैसी चीजों के लिए कर पाना मुश्किल है.

अगर अब भी आपका शक दूर ना हुआ हो तो हम आपको इस ऐप के बारे में कुछ और जानकारी भी दे देते हैं. ये ऐप तीन ऐज फिल्टर्स वाला होता है. एक पुरानी फ़ोटो के लिए आर्टिफिशल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल कर फेस के फ़ीचर्स को बदला जाता है जिससे व्यक्ति बूढ़ा होने पर कैसा दिखेगा, इस बात का पता चल सकता है. ये केवल उन्हीं फ़ोटो को चेंज कर सकता है जिसे आप खुद से सेलेक्ट करते हैं.

गूगल के सॉफ्टवेर इंजीनियर का कहना है की Faceapp आपके फ़ोन से कोई भी संवेदनशील जानकारी नहीं निकल सकता, लेकिन डेटा पारदर्शिता का हवाला देते हुए अमेरिकी एजेंसी ऍफ़.बी.आई को इसके जाँच कर्मे के आदेश दे दिए गए हैं.