इस वजह के चलते इरफान के पिता कहते थे पठान के परिवार में पैदा हुआ है ब्राह्राण

अपनी शानदार एक्टिंग से बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड में लोहा मनवाने वाले अभिनेता इरफ़ान खान काफी समय से बीमार चल रहे थे, पहले भी वो ब्रेन केंसर से लड़ने के लिए लंदन अपना इलाज करवाने गये थे और वहां से ठीक होकर अपने वतन वापस लौटे थे. अभी हाल ही में मंगलवार को उन्हें कॉलन इन्फेक्शन के चलते मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती कराया था. जिसके बाद आज 29 अप्रैल को अंतिम सांस लेकर इस दुनिया को अलविदा कह दिया है.

जानकारी के लिए बता दें अभिनेता इरफ़ान खान के निधन के बाद हर तरफ शोक की लहर दौड़ गयी है और फिल्म इंडस्ट्री में मायूसी छा गयी है. इरफ़ान खान की जिंदगी से जुड़े ऐसे बहुत से किस्से हैं जो लोगों को आज भी विचलित कर देंगे. ऐसा ही एक किस्सा आज हम आपको इरफ़ान से जुड़ा बताने जा रहे हैं जिसे जानने के बाद आपको भी उनकी बात पर यकीन नहीं होगा.

इरफ़ान खान का पूरा नाम साहबजादे इरफ़ान अली खान है. उनका जन्म एक पठान मुस्लिम परिवार में हुआ था. पिता जागीरदार टायर का व्यापार करते थे. सबसे हैरानी की बात ये है कि पठान परिवार में जन्म लेने के बाद भी उन्होंने कभी भी मीट या मांस नही खाया था. वो बचपन से ही शाकाहारी थे. इसी वजह से उनके पिता इरफ़ान खान से मजाक में कहा करते थे कि ये तो पठान परिवार में ब्राह्मण पैदा हो गया है.

गौरतलब है कि जयपुर के थिएटर से लेकर बॉलीवुड और हॉलीवुड में अपनी शानदार एक्टिंग से लोहा मनवाने वाले इरफ़ान खान आज किसी परिचय के मोहताज नहीं. बहुमुखी प्रतिभा के धनी इरफ़ान भीड़ से अलग हटकर चलने वाले लोगों में से एक थे. यही कारण है वो पठान से परिवार से ताल्लुक रखने के बावजूद भी शुद्ध शाकाहारी थे. वो अपने पिता के साथ जंगलों में शिकार पर जाते तो थे लेकिन इरफ़ान रायफल चलाना जानने के बावजूद भी जंगल में जानवरों का शिकार नही किया करते थे.