शाहीन बाग में प्रदर्शन करते-करते हो गया प्यार, अब करेंगे निकाह

15088

दिल्ली चुनाव की सरगर्मी पूरी दिल्ली में छाई हुई है और अब चुनाव का प्रचार बंद हो चूका है.  लेकिन आज भी नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ राजधानी दिल्‍ली के जामिया नगर इलाके में स्थित शाहीन बाग मोहल्‍ले में पिछले 50 दिनों से महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैंऔर वहां से हटने का नाम नही ले रही है. शाहीन बाग में प्रदर्शन में हिस्‍सा लेने के लिए जहां देशभर से लोग यहां आ रहे हैं. शाहीन बाग में प्रदर्शन के दौरान एक नया वाक्या सामने आया है. आप भी कुनकर थोडा आश्चर्यचकित हो जायेगें. बता दे कि अब तक आगरा का ताज महल  लोगो के लिए मोहब्बत का गवाह था. दिल्ली में भी कई जगह है जो लोगो को के लिए मोहब्बत का इज़हार कर सकते है. लेकिन अब शाहीन बाग युवा दिलों की मोहब्‍बत का गवाह बनने जा रहा है.

CAA और NRC को लेकर पिछले एक महीने से ज्यादा का वक्त निकल चुका है लोगो को प्रदर्शन करते हुए. शाहीन बाग और वहां के आस पास के इलाके पिछले साल 15 दिसंबर से ही प्रदर्शन झेल रहे हैं. कालिंदीकुंज को नोएडा से जोड़ने वाली इस सड़क पर महिलाएं धरना प्रदर्शन कर रही हैं.जिलकी वजह से वहां के आस पास के लोगो को ऑफिस जाने काफी मश्कत करनी पड़ती है. शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन की गूंज देश ही नहीं दुनियाभर में सुनी जा रही है. महिलाएं नुक्‍कड़ नाटक, रैली, भाषण के जरिए सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहर है.

इस प्रदर्शन में बड़ी संख्‍या में युवा और स्‍टूडेंट भी हिस्‍सा लेने पहुंच रहे हैं. इसी बीच आंदोलन की लौ को जलाने वाले युवाओं के बीच में अब प्रेम भी पनप रहा है. दरअसल प्रदर्शन के दौरान दो जोड़ों के बीच प्यार हो गया है. ये दोनों प्रेमी जोड़ें मेडिकल की पढ़ाई कर रहे है. एक जोड़े  पहले जोड़े की बात करें तो जुनैद और समर के बीच प्रदर्शन के दौरान बातचीत शुरू हुई जो प्‍यार में बदल गई. उन्‍होंने इसकी जानकारी परिवार को दी और परिवार वालों की रजामंदी के बाद अब जुनैद और समर 7 फरवरी को निकाह करने जा रहे हैं.

वहीं शाहीन बाग में बात करें तो तो दूसरी  जोड़ी जीशान-आयशा जो  8 फरवरी को शादी करने जा रहे हैं. इन दोनों की मुलाकात भी यही पर प्रदर्शन के दौरान हुए थी. जीशान और आयशा का परिवार पहले से एक-दूसरे को जानता था. प्रदर्शन के दौरान दोनों ने एक-दूसरे से बात की और धीरे-धीरे इश्‍क परवान चढ़ गया और अब वो दोनों मापने परिवार की रजामंदी से 8 फरवरी को शादी रचाने जा रहे है.