बीजेपी ने करवाया दिल्ली में आन्तरिक सर्वे, आये ये चौकाने वाले नतीजे

1127

देश की राजधानी दिल्ली इस वक्त सुर्खियों में बनी हुई है. इस का कारण है दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020. दिल्ली में मौजूदा समय की बात करें तो शाहीन बाग कद लेकर आये दिन नए खुलासे हुआ करते हैं. वहीं दिल्ली के चुनाव की बात करें तो बीजेपी ने पूरी तरह से शाहीन बाग में चल हे धरने को गलत बताया है. बीजेपी ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पर शाहीन बाग में बिरयानी खिलाने का आरोप लगाया है.

दिल्ली चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी ने चुनाव को लेकर बहुत पहले से ही अपनी तैयारी करना शुरू कर दिया था. बीजेपी को मैदान में उतरने में थोड़ी देर हो गई. लेकिन अगर अभी के हालात देखें जाएँ तो आम आदमी पार्टी जहाँ पूरी तरह से चुनाव की ड्राइविंग सीट पर बैठ कर अपनी जीत को सुनिश्चित समझ रहे थे. कांग्रेस की बात करें तो दिल्ली चुनाव में है ही नही.

दिल्ली चुनाव की बात करें तो अब बीजेपी ने तबाड-तोड़ रैली कर रही है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली चुनाव प्रचार की कमान सँभालने के बाद पुरे चुनाव की हवा ही पलट दी है. जो कसर बची थी उसको प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव प्रचार शुरू करते ही और भी ज्यादा आम आदमी पार्टी के लिए पेचीदा कर दिया है.

दिल्ली का चुनाव प्रचार गुरुवार की शाम को थम जाएगा. ऐसे में बीजेपी चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद अपना पूरा फोकस अब चुनावी माइक्रो मैनेजमेंट पर रखेगी. बीजेपी के नेताओं का मानना है कि गृह मंत्री अमित शाह और उसके बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैलियों ने जहां दिल्ली के चुनावी माहौल को बदलने का काम किया, वहीं अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों के बाद माहौल बीजेपी के पक्ष में बनता दिखने लगा है.

बीजेपी ने दिल्ली के लोगों के बारे में जानने की कोशिश करी. उनका रुझान किस पार्टी को वोट देने की तरफ है. इसको लेकर बीजेपी ने एक इंटरनल सर्वे किया है. जो सोमवार को ईस्ट दिल्ली में हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के ठीक बाद दिल्ली के सभी विधानसभा क्षेत्रों में करवाया गया था. इस सर्वे के नतीजों के आधार पर कहा जा रहा है कि शाहीन बाग, सर्जिकल स्ट्राइक, बाटला हाउस जैसे मुद्दों पर मोदी ने जिस तरह खुलकर अपनी बात सामने रखी है, उसका लोगों पर काफी असर पड़ता दिख रहा है.

दरअसल बीजेपी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, मोदी की रैली से पहले जितने भी सर्वे कराए गए थे, उनमें बीजेपी दिल्ली में आप को टक्कर देती तो दिख रही थी, लेकिन चुनाव के नतीजे आप के ही पक्ष में झुकते दिख रहे थे. फिर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और फिर मोदी की रैलियों के बाद से मुकाबला कांटे का हो गया है. जिसको देखते हुए बीजेपी कहने लगी है कि नतीजे अब हमारे पक्ष में झुकते नजर आ रहे हैं. इस सर्वे में एक चौकाने वाली बात सामने आई है वो ये है कि  दिल्ली की कुछ सीटों पर कांग्रेस बाजी मारती नजर आ रही है.

अब बात करते है  जो बीजेपी ने अपना सर्वे कराया है. बीजेपी सूत्रों ने बताया कि सोमवार को देर शाम कराए गए सर्वे में बीजेपी को दिल्ली चुनाव में जहां 27 सीटें मिलती दिख रही हैं, वहीं आप को 26 और कांग्रेस को 8 से 9 सीटें मिलती दिख रही हैं, इससे यही लग रहा है कि कांग्रेस को दिल्ली चुनाव से बाहर समझना पार्टीयों के लिए गलत साबित होगा. क्या कांग्रेस किसी को भी पूरी तरह से किसी भी पार्टी को सत्ता से दूर रखेगी. जबकि बाकी की सीटों पर मुकाबला बेहद कड़ा देखने को मिल सकता है, और नतीजे किसी के भी पक्ष में जा सकते हैं. पार्टी नेताओं के मुताबिक, यह सर्वे सोमवार की रैली के बाद है, जबकि मोदी ने मंगलवार की शाम को भी वेस्ट दिल्ली के द्वारका इलाके में भी एक और बड़ी चुनावी रैली को संबोधित किया था. ऐसे में उस रैली के बाद माहौल के और बदलने की संभावना जतायी जा रही है.