इस मु’स्लिम बहुल देश में खुली हिन्दू यूनिवर्सिटी, रामायण के इस पात्र के ऊपर रखा नाम

1117

दुनिया के सबसे ज्यादा आबादी वाले देश ने एक ऐसा कदम उठाया हैं. जिसके बारे में अगर आप को भी पता चलेगा तो चौंक जाओगे. हम बात कर रहे हैं सबसे बड़े मु’स्लिम देश इं’डोनेशिया की. जहाँ सबसे ज्यादा मु’स्लिम रहते हैं और वहां के नोटों पर गणेश जी की प्रतिमा भी छपती हैं. इसी के साथ इं’डोनेशिया के लोग रामायण को भी पढ़ते हैं और उसको महत्व देते हैं.

इं’डोनेशिया ऐसा पहला मु’स्लिम देश हैं जिसने किसी हिन्दू के नाम पकार अपने देश में हिन्दू यूनिवर्सिटी खोली हैं. ऐसा पहली बार हुआ हैं वहीं यह अगर भारत में होता तो इसी बात पर लोग राजनीति करना शुरू कर देते उनकी भावनाए आहात हो जाती. बता दें सुग्रीव के नाम पर इं’डोनेशिया में पहली हिन्दू यूनिवर्सिटी खोली गयी हैं और इं’डोनेशिया के राष्ट्रपति जोको ‘जोकोवी’ विडोडो ने एक प्रेजिडेंशियल रेगुलेशन के तहत बाली के देनपासर में हिन्दू धर्म स्टेट इंस्टीट्यूट (IHDN) को देश की पहली हिंदू स्टेट यूनिवर्सिटी बनाया हैं.

इंडोनेशिया ने इस तरह की पहल करके बाकी मु’स्लिम देशों के सामने एक उदाहरण पेश किया हैं जिसके बाद इसे ऐतिहासिक तौर पर भी देखा जा रहा हैं. इस यूनिवर्सिटी का नाम नए रेगुलेशन के मुताबिक आई गुस्ती बागस सुग्रीव स्टेट हिंदू यूनिवर्सिटी (UHN) रखा गया हैं और इस यूनिवर्सिटी मे ‘एडमिनिस्टर हिंदू हायर ऐजुकेशन प्रोग्राम’ के साथ-साथ ‘हिंदू हायर ऐजुकेशन प्रोग्राम को सपॉर्ट करने वाले’ दूसरे हायर ऐजुकेशन प्रोग्राम को भी शामिल किया गया हैं. गौरतलव हैं कि इ’ण्डोनेशिया के इस कदम के बाद हिन्दू मान्यताओं के मुताबिक इसे एक बेहतर कदम माना जा रहा हैं.

इं’डोनेशिया के राष्ट्रपति हिन्दुओ की बेहतर शिक्षा के लिए ध्यान दे रहे है और इस काम को आगे बढ़ा रहे हैं. वहीं अगर हमारे देश में हुआ होता तो वि’पक्षी दल इसी राजनितिक मुद्दा बना देता और इस पर भी सियासत के लिए उलटे सीधे दांवपेंच खेलता. लेकिन इ’ण्डोनेशिया ने इस कदम को उठाकर बाकी सभी के लिए एक मिशाल पेश की हैं. जिसे लोगों के द्वारा सराहा जा रहा हैं.