इस महिला वकील पर भड़की निर्भया की माँ, कहा ‘रे’पिस्टों का समर्थन कर अपनी जेब भरती हो’

2009

कोर्ट ने निर्भया के दो’षियों के लिए एक बार फिर डे’थ वारंट जरी करते हुए फां’सी देने की नई तारीख तय की. इस पर सुप्रीम कोर्ट की एक सीनियर महिला वकील ने निर्भया की माँ आशा देवी से निर्भया के गुनहगारों को माफ़ करने की अपील की. जिस पर निर्भया की माँ भड़क गईं.

सुप्रीम कोर्ट की सीनियर वकील इंदिरा जयसिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी का उदाहरण देते हुए कहा कि आशा देवी (निर्भया की माँ)  को ठीक उसी तरह से निर्भया के दोषियों को माफ़ कर देना चाहिए जैसे सोनिया गाँधी ने अपनी पति राजीव गांधी के ह’त्या’रों को माफ़ कर दिया था. उन्होंने कहा, ‘वे आशा देवी के दर्द और वेदना को समझती हैं, लेकिन मृ’त्यु’दं’ड के खिलाफ हैं. जिस तरह से सोनिया ने राजीव गांधी ह’त्या’कां’ड की दोषी नलिनी की मौ’त की स’जा माफ कर दी है, ऐसा ही उदाहरण आशा देवी को पेश करना चाहिए और अपनी बेटी के गुनाहगारों को माफ़ कर देना चाहिए.

इस पर निर्भया की माँ भड़क गई. उन्होंने कहा कि अगर भगवान भी आ कर कहे कि अपनी बेटी के दोषियों को माफ़ कर दो तब भी मैं नहीं करुँगी. उन्होंने कहा, ‘इंदिरा जयसिंह होती कौन है ऐसा कहने वाली?  पूरा देश दोषियों को फां’सी चाहता है. उनके (इंदिरा जयसिंह) जैसे लोगों की वजह से ही रे’प पीड़िताओं के साथ न्याय नहीं हो पाता.’

उन्होंने आगे कहा, ‘’विश्वास नहीं होता कि आखिर इंदिरा जयसिंह मुझे ऐसा सुझाव देने की हिम्मत कैसे कर सकती हैं. बीते सालों में सुप्रीम कोर्ट में उनसे कई बार मुलाकात हुई. उन्होंने एक बार भी हालचाल नहीं पूछा और आज वह दोषियों के लिए बोल रही हैं. ऐसे लोग रे’पि’स्टों का समर्थन करके अपनी आजीविका कमाते हैं. इसी के चलते रे’प की घटनाएं रुक नहीं रही हैं.’