देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के चलते हाहाकार मचा हुआ है. पूरी दुनिया में लगातार बढ़ रही कोरोना के मरीजों की संख्या ने सभी को हैरान कर दिया है. भारत सरकार भी इससे लड़ने के लिए पूरा प्रयास कर रही है और हर दिन कुछ न कुछ नया काम किया जा रहा है. मंगलवार को संसद भवन में भारतीय जनता पार्टी के संसदीय दल की बैठक हुई जिसमें पीएम मोदी ने सभी सांसदों को कोरोना वायरस के चलते संबोधित करते हुए निर्देश दिया है कि वो लोगों को जागरूक करें और सावधानी बरतते रहें.

जानकारी के लिए बता दें भारत में लगतार बढ़ रहे कोरोना के मरीजों ने मोदी सरकार की भी बैचेनी बढ़ा दी है. अब भारत में यह संख्या 166 हो गयी है. यह देश के 18 राज्यों में फ़ैल चुका है. अब इसे रोकने के लिए सरकार लगातार एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही है. जिससे ये बीमारी बाक़ी लोगों में न फ़ैल सके. इसी बीच बड़ी खबर रेलवे को लेकर आ रही है.

भारत में कोरोना वायरस के 15 मरीजों को अब तक ठीक भी किया जा चुका है. इतना ही नहीं इस संक्रमण के चलते भारत में तीन लोगों की जा-न भी चली गयी है. अब इस गंभीर बीमारी को रोकने के लिए रेल मंत्रालय ने सावधानियां बरतनी शुरू कर दी हैं. वहीं सरकार ने इस वायरस के चलते जानकारी देते हुए बताया है कि देशभर में 168 ट्रेनों को कैंसल कर दिया है.

गौरतलब है कि 20 मार्च से लेकर 31 मार्च तक रद्द कर दी गयी हैं. वहीं रेल मंत्रालय लगातार यात्रा कर रहे यात्रियों पर निगरानी कर रहा है और वायरस से संक्रमित लोगों को सीधे आइसोलेशन वार्ड पहुंचा रहा है. इतना ही नहीं रेलवे ने तो इस बोगी में कोरोना से संक्रमित महिला बैठकर आयी थी उसको ट्रेन से ही अलग कर दिया था और उसे सेनेटाइज के लिए भेज दिया था.