चीन से सभी बातचीत ना’काम, सीमा पर अलर्ट हुई भारतीय सेना

177

चीन और भारत के बीच लद्दाख बार्डर के पास गलवान घाटी पर काफी दिनो से त’नात’नी चल रही है. जिसको लेकर दोनो देशो के बीच कई दौर की बैठक हो चुकि है. लेकिन चीन अपने दोग’ले रवैये से बाज़ नही आ रहा है. चीन के साथ बातचीत करने से भी कोई फायदा नही हुआ है. क्योकि चीन ने जो हरकत की है वो बर्दाशत करने लायक नही है.लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) को लेकर सूत्रों का कहना है कि चीन से बातचीत करने का कोई असर नही पड़ा है. स्थिति अभी भी तनाव पूर्ण है. इसके बाद भारतीय सेना सिर्फ लद्दाख ही नही एलएसी के दूसरे हिस्सों में भी सेना अलर्ट मोड़ पर आ गई है.

इस बीच भारतीय सेना की ओर से शहीद हुए 20 जवानों का नाम आज जारी किया जाएगा. चीनी सेना के साथ हुई झ’ड़प में हमारे जो जवान श’हीद हुए हैं. झड़’प की घ’टना 15-16 जून की रात हुई. भारत सैनिकों का दल कमांडिंग अफसर कर्नल संतोष बाबू की अगुवाई में चीनी कैंप में गया था. भारतीय दल कोई ह’थियार लेकर नहीं गया था. भारतीय दल चीनी सैनिको के पीछे हटने को लेकर बात करने गए थे. लेकिन वहां पहुंचने का बाद चीनी सैनिको ने भारतीय सेना के साथ धोखा किया और उनके ऊपर बॉ’ल्डर, पत्थ’र,कं’टीले तारों और की’ल लगे डं’डो से ह’मला किया था. . इस ह’मले के कारण कमांडिग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू और दो जवान मौके पर श’हीद हो गए, जबकि कई जवान घाय’ल हो गए.

भारत की तरफ से जारी आधिकारिक बयान के मुताबिक, 20 जवान श’हीद हुए हैं. लेकिन चीन की बात करें तो वो अपना मुहं खोलने की हिमाक’त नही कर पा रहा है और  कुछ भी सही नही बता रहा है. लेकिन चीन की तरफ भी नुकसा’न बहुत तगड़ा हुआ है. एनआई की तरफ से पु’ष्टी की गई है कि 43 जवान चीन के भी शही’द हुए है.