भारत ने तुर्की को हड़काया, सुधर जाओ नहीं तो कर देंगे मलेशिया जैसा हाल

3274

दुनिया के सारे बड़े देश कश्मीर पर के मुद्दे पर भारत के साथ हैं. सऊदी अरब और UAE जैसे मुस्लिम देशों ने भी कश्मीर को भारत का आंतरिक मसला बताया. लेकिन मलेशिया और तुर्की के तेवर भारत विरोधी रहे हैं. मलेशिया को तो भारत ने ऐसा सबक सिखाया कि अब वो ये स्वीकार कर चूका है कि भारत जैसे बड़े देश से टकराना उसके बस की बात नहीं. मलेशिया के बाद अब बारी तुर्की की है. भारत अब तुर्की को भी मलेशिया जैसा सबक सिखाने जा रहा है.

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने बीते दिनों कहा था कि तुर्की के लिए कश्मीर उतना ही महत्वपूर्ण है जितना पाकिस्तान के लिए. अब भारत ने इस बयान के लिए तुर्की को हड़काया है.  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘कश्मीर पर एर्दोआन का बयान दर्शाता है कि ना उन्हें इतिहास की कोई समझ है और ना ही कूटनीतिक आचरण की. तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोआन का बयान वर्तमान की संकीर्ण सोच को आगे बढ़ाने के लिए अतीत की घटनाओं से छेड़छाड़ करने वाला है.’

उन्होंने कहा, ‘भारत के लिए बर्दाश्त से बाहर है. हम खासकर पाकिस्तान के सीमापार आतंकवाद को तुर्की की ओर से बार-बार बचाव किए जाने पर गहरी आपत्ति जताते हैं.’ बीते दो दिनों में भारत ने तुर्की को तीसरी बार हड़काया है. और सूत्रों के हवाले से खबर ये भी है कि भारत अब तुर्की के खिलाफ भी वही कदम उठाने जा रहा है जो उसने मलेशिया के खिलाफ उठाया है. भारत अब तुर्की से अपने व्यापारिक संबंधो में कटौती करने की दिशा में गंभीरता से विचार कर रहा है.