भारत नेपाल के वि’वाद में पाकिस्तान ने अड़ाई अपनी टां’ग, फिर अ’लापा कश्मीर का रा’ग

204

बीते कुछ दिनों से भारत और नेपाल के मध्य सड़क निर्मा’ण को लेकर सी’मा वि’वाद चल रहा है. जिस में अब पाकिस्तान भी मौके का फायदा उठाते हुए बीच में कू’द पड़ा है. दरअसल भारत ने लिपुलेख से होकर गुजरने वाली कैलाश मानसरोवर लिंक रोड के निर्माण का कार्य 8 मई को उद्घा’टन करने के बाद से शुरू कर दिया है. जिस पर नेपाल ने आ’पत्ति दिखाई है.

जिस पर भारत में नेपाल को जवाब देते हुए कहा था कि भारत अपने क्षेत्र में ही निर्माण कर रहा है. जबकि नेपाल उत्तराखंड के लिपुलेख काला’पानी, और लिम्पि’याधुरा पर अपना दा’वा कर रहा है और उसने इन तीनों क्षेत्रों को शामिल करते हुए एक नया न’क्शा भी जारी किया है. जिस पर दोनों देशों के बीच मत’भेद जारी है.

इसी का फा’यदा उठाते हुए पाकिस्ता’न के PM इमरान खान ने लिखा कि हिं’दुत्व सुप्रे’मेसिस्ट मोदी सरकार अहं’कार से पू’र्ण विस्ता’रवादी नीति’यों के साथ भारत पड़ोसी देशों के लिए खत’रा बन गया है. बांग्लादेश को नागरिकता संशो’धन का’नून के जरिए और नेपाल-चीन के लिए सी’मा वि’वाद से भारत ख’तरा पेश कर रहा है. वहीं, पाकिस्तान के खिला’फ भारत झू’ठे फ्लै’ग ऑप’रेशन चलाकर मुश्कि’लें पैदा कर रहा है.

इसके अलावा इमरान खान ने यह भी लिखा कि भारत ये सब कश्मीर पर अवै’ध क’ब्जे, जेनेवा संधि के तहत यु’द्ध अ’पराध को अंजा’म देने और पाकिस्तान के हि’स्से वाले कश्मीर पर दा’वा पेश करने के बाद कर रहा है. मैंने हमेशा से कहा है कि मुस्लि’मों को दो’यम द’र्जे का नागरिक बनाने वाली फासी’वादी मोदी सरकार केवल भारतीय अल्प’संख्यकों के लिए ही नहीं बल्कि क्षे’त्रीय शांति के लिए भी ख’तरा है.

जाहिर है इससे पहले पाकिस्ता’न ने चीन के साथ मिल कर POK पर बाँ’ध के नि’र्माण के लिए चीन की सरकारी कंपनी के साथ अरबो डॉलर का समझौता किया है. जिसके बाद अब पाकिस्तान भारत और नेपाल के मस’ले पर अपने फ़ा’यदे के लिए अपनी टां’ग अ’ड़ा रहा है. ताकि भारत के खिला’फ बाकी देशों को ब’रगला सके.