अब इस मामले में भारत ने अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश को पछाड़ा, दुनिया में सबसे अव्वल

4836

भारत ही नहीं इस समय पूरी दुनिया कोरोना जैसी महामारी से जूझ रही है. इस भयंकर बीमारी ने हर देश की हालात खराब कर दी है. हर दिन हजारों की संख्या में लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं तो सैंकड़ों अपनी जान दे रहे हैं. जिसके चलते हर देश की नींद उड़ी हुई है. सबसे बड़ी विचलित कर देने वाली बात ये है कि इस बीमारी का अभी तक कोई इलाज नही निकल पाया है न ही कोई वैक्सीन बन पायी है.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना वायरस के चलते हर देश की अर्थव्यवस्था डगमगा गयी है साथ ही ज्यादातर कामकाज बंद हो गये हैं. भारत ने भी पूरे देश में 3 मई याक के लिए लॉकडाउन लागू किया हुआ है जिससे इस बीमारी से बचा जा सके. हर तरफ से कोरोना के चलते बुरी खबर आ रही है वहीँ भारत को लेकर एक बहुत बड़ी खबर आ रही है जिसे जानने के बाद कई लोगों को यकीन भी नहीं होगा.

डिजिटल कामकाज को लेकर भारत ने दुनिया के कई बड़े देशों को पीछे छोड़ दिया है. जी हाँ आपको भी जानकर हैरानी होगी कि भारत डिजिटल कामकाज को लेकर सबसे कुशल देश है. इस मामले में भारत ने ब्रिटेन और अमेरिका जैसे देशों को पछाड़ दिया है. भारत का डिजिटल कामकाज के चलते पहला स्थान है तो वहीँ ब्रिटेन और अमेरिका दूसरे और तीसरे नम्बर पर आते हैं. भारत इस मामले में दुनिया में सबसे अव्वल है.

गार्टनर इंक ने गुरूवार को जारी सर्वे में बताया है कि ‘डिजिटल प्लेटफॉर्म पर काम करने वाले 67 फीसदी कर्मचारियों ने मशीन लर्निंग, इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स और एआई जैसी तकनीक को अपने कामकाज के लिए बेहतर बताया है.’ साल 2019 में हुए सर्वे के अनुसार गार्टनर ने बताया कि अधिकांश भारतीय कर्मचारी डिजिटल क्षेत्र की नई तकनीकों को सीखने में अच्छे तरीके से रूचि दिखा रहे हैं. इसी के साथ 27 फीसदी कर्मचारी डिजिटली रूप से पूरी तरह दक्ष हो चुके हैं, वहीँ 10 में से 7 कर्मचारी नई तकनीकों को उच्च वेतन और बेहतर अवसर के रूप में देखते हैं. रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि 45 फीसदी भारतीय कर्मचारियों को इस बात से कोई फर्क नहींपड़ता कि डिजिटल तकनीक उनके कामकाज की आदतों की निगरानी भी करता है.