चीन को सबक सिखाने के लिए भारत ने लद्दाख से कर अरुणाचल तक तैनात किये 3 इन्फैंट्री डिविजन

1917

भारत और चीन के बीच हुई खू’नी जं’ग के बाद अब भारत ने चीन को मा’त देने के लिए अपनी तैयारी पूरी कर ली है. साथ ही चीन के हर कदम पर करारा जवाब देने के लिए भारतीय सेना तैयार है. बता दें मंगलवार को हुई LAC पर हिं’सक झ’ड़प में भारतीय सेना के 20 सैनिक शही’द हो गए. जिसके बाद चीन के इस धो’खे का भारत की तरफ से क’ड़ा जवाब दिया जा रहा है. जिसके लिए अब भारत की हर सीमा पर भारतीय सेना पूरी तरह से तैनात है साथ ही जल, थल और नभ हर जगह सेना पूरी तैयारी के साथ मौजूद है.

बता दें लद्दाख में 3 इंफैं’ट्री डिविजन डिप्लायड हैं. इसके अलावा ऊंचाई पर युद्धाभ्या’स करने वाली दो अलग-अलग ब्रिगेड भी तैनात हैं. हिमाचल प्रदेश में अधिक मात्रा में ट्रूप्स भेजे जा चुके है. इसके अलावा उत्तराखंड में गढ़वाल और कुमाऊं सेक्टर में सेना को तैनात किया गया है. साथ ही उत्तरकाशी के चिन्यालिसौर में एयरफोर्स ने हवाई पट्टी को ए’क्टिव कर दिया है.

दरअसल चीन की इस क्षेत्र पर भी हमेशा नजर रही है. ऐसे में भारत इस क्षेत्र में पूरी तरह तैयार हो चुका है. साथ ही सिक्किम में सेना बढ़ा दी गयी है. इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल में उत्तरी आर्मी कमांड में 34,000 भारतीय सै’निक तैनात हैं और उत्तराखंड में केंद्रीय आर्मी कमांड में 15,500 सैनिक तैनात हैं. वही सिक्किम, अरुणाचल, असम, नागालैंड और बंगाल में पूर्वी आर्मी कमांड में 1 लाख 75 हज़ार 500 सैनिक तैनात हैं.

इसके अलावा सुकना में 33 कोर, तेजपुर में 4 कोर, रांची में 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर को तैनात किया गया है और वायु सेना की ओर से LAC से सटे बेस पर लड़ा’कू विमानों को भी तैनात किया है. इसके अलावा हिन्द महासागर में भी नौसेना की ता’कत को बढ़ा दिया गया है. बता दें चीन के रक्षा विशेष’ज्ञ और सैन्य चीनी मैगजिन मॉर्ड’र्न वैपन’री के संपादक हुआंग गुओझी ने भी माना है कि पहाड़ी मैदान और पर्व’तीय क्षेत्रों में सबसे ज्यादा अनुभवी सेना सिर्फ भारत के पास है.

जाहिर है भारत ने हर जगह पर अपनी तीनो सेनाओ की ता’कत को बढ़ा दिया है. जिसकी वजह से चीन की तरफ से यु’द्ध को लेकर सेना की तैयारी की वीडियो जारी की जा रही है. लेकिन भारत चीन के दिखावे को अब समझ गया है. इसके लिए हर तरफ से भारत अब चीन को उसकी ही भाषा में जवाब देने के लिए तैयार है.