पाक पीएम इमरान ने कोरोना के चलते दुनियाभर के देशों के सामने फैलाया हाथ लेकिन मिला क्या जानिये

दुनियाभर में इस समय कोरोना का कहर छाया हुआ है. हर दिन हजारों की संख्या में लोग इस बीमारी से संक्रमित हो रहे हैं और सैंकड़ों अपनी जान दे रहे हैं. ऐसे में सरकारें एक के बाद के बड़े कदम उठा रही हैं ताकि इस महामारी से बचा जा सके लेकिन हालात हर दिन बिगड़ रहे हैं. कोरोना के चलते बड़े-बड़े देश एक दूसरे की मदद कर रहे हैं. वहीँ हम पाकिस्तान की बात करें तो वहां के पीएम इमरान खान ने बड़ी बात कही है.

जानकारी के लिए बता दें पाक में कोरोना के चलते हालात बहुत बिगड़ गये हैं. आर्थिक स्थिति से जूझ रहे पाक की कोरोना में और ज्यादा हालत खराब हो गयी है. कई देशों के सामने मदद के लिए हाथ फैला चुके पाक के साथ ऐसा होगा उसने सोचा भी नहीं होगा. क्या इसके पीछे पीछे की वजह आतंकियों को शरण देने की तो नहीं है? पाक की कोरोना के संकट में कोई भी देश मदद करना नहीं चाह रहा है. इमरान खान के दावे इसी ओर इशारा कर रहे हैं.

पीएम इमरान खान ने अपना दर्द झलकाते हुए कहा है कि इस संकट में न तो किसी देश न ही किसी वैश्विक संगठन ने पाकिस्तान को एक डॉलर की भी मदद न की है. पाक उन देशों में शामिल है जिसकी अर्थव्यवस्था पहले से ही जर्जर हो चुकी है अब उसपर कोरोना के चलते दोहरी मार पड़ रही है. भूख से तड़प रहे लोग सरकार के खिलाफ सडकों पर उतर रहे हैं. पाक की स्थिति इस समय ऐसी हो चुकी है कि इमरान खान अपील पर अपील किये जा रहे हैं लेकिन कोई भी देश उनकी मदद के लिए आगे नही आ रहा है.

गौरतलब है कि पाकिस्तान पूरी दुनिया में अपने देश में पल रहे आतंक को लेकर दुनिया में मशहूर हो चुका है. पाक पीएम इमरान खान ने कहा पत्रकारों से बातचीत के बाद कहा कि इस महामारी के चलते इकॉनमी बुरी तरह से प्रभावित हुई है और गंभीर मुश्किलों के बाद भी न तो कोई देश न ही कोई वैश्विक संगठन ने सिंगल डॉलर की भी मदद न की है. इससे पहले इमरान खान वैश्विक समुदाय से अपील कर चुके थे कमजोर देशों का ऋण माफ़ कर देना चाहिए. अगर यही स्थिति रही तो पाक की हालत और भी खराब हो सकती है.