पीएम मोदी से ड’रे इमरान खान कहा, जब तक मोदी है तब तक नहीं हो सकता हमारा ये मक’सद पूरा

3283

पाकिस्तान कहने को हमारा पड़ोसी देश है. लेकिन उसकी हर’कते और कर’तूत एक दुश्म’न देश वाली है. भारत ने कई बार पाकिस्तान के साथ रिश्ते सुधारने की कोशिश अपनी तरफ से की थी और करता भी रहा है. परन्तु पाकिस्तान वो देश है जिसको प्यार की भाषा समझ नहीं आती है. एक कहावत है कि लातों के भू’त बातों से नही मानते’ ये पाक के ऊपर बिल्कुल सटीक बैठता है. पाकिस्तान कई बार भारत की लाइन ऑफ़ कंट्रोल के ऊपर सी’जफा’यर का उलं’घन करता  रहता है. इसी वजह से इसको न-पाक देश बोलने में किसी भारतीय को गु’रेज नहीं होना चाहिए. पाकिस्तान को पूरे देश में भारत ने नी’चा दिखाया लेकिन इतना बे’शर्म, बे’ह’या देश है जिसकी सेहत पर कोई असर नहीं पड़ता है.

पिछले साल की बात करें तो प्रधानमंत्री मोदी ने कश्मीर से धारा 370 को हटाया था. उसके बाद से पाकिस्तान के पेट में द’र्द शुरू हो गया था. एक तरह का खौ’फ भी पैदा हो गया था. पाकिस्तान को अंदर से एक ड़’र था कि कही ऐसा न हो की मोदी अब कश्मीर को भी अपने क’ब्जे में लेलें या फिर कह सकते हैं कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है. जिस पर पाक जबर’दस्ती अपना क’ब्ज़ा ज़मा’ने की बात करता है. उस कश्मीर पर मोदी कभी भी कोई ऐक्शन ले सकते हैं. ये ड़’र पकिस्तान के अंदर बना हुआ है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के अंदर मोदी को लेकर जो खौफ बना है. उस खौ’फ का इज़’हार इमरान खान ने कर दिया है. उनके चेहरे पर कहीं न कहीं कश्मीर को लेकर शिक’न साफ़ झलकती है. इमरान खान ने एक बयान जारी किया है और कहा है कि ‘जब तक मोदी भारत के वज़ीरे आला हैं तब तक कश्मीर को हम छू भी नहीं सकते है. इमरान ने आगे कहा कि मोदी के कार्यकाल में कश्मीर का समा’धान होना मुश्किल ही नहीं न मुमकिन है.’

इमरान खान ने बेजियम के एक टीवी चैनल को इंटरव्यू देते वक़्त कहा की हमे मोदी सरकार से उम्मीद नहीं दिखती है. इस सरकार के साथ कश्मीर का मुद्दा हल हो सके. लेकिन भारत में भविष्य में कोई दूसरा नेतृत्व आएगा तो कश्मीर का मु’द्दा हल हो सकता है. इमरान खान ने कहा कि मुझे लगता है कि भारत में मजबूत और स्पष्ट सोच वाला नेतृत्व आएगा तो इस समस्या का समाधान हो जायेगा. इमरान खान अक्सर ‘आरएसएस को लेकर भी कटा’क्ष करते आये हैं. उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार की विचारधारा आरएसएस वाली है जो ना’जियों से प्रेरित है.’ इमरान ने कहा की भारत की सरकार को आरएसएस चला रहा है. जो हि’टलर की नस्ल’वादी विचा’रधारा को मानती है ऐसा इमरान खान का कहना है.

दरअसल एक बात साफ़ समझ आती है. इमरान खान को भारत से उनको खौ’फ लगता है. इमरान अपना द’र्द कई बार अमेरिका के सामने भी ब’याँ कर चुके है. लेकिन उसका भी कोई फायदा नहीं हुआ है. इमरान खान को खुद समझ नहीं आ रहा है की अभी उनको करना क्या है? क्योकि भारत के सामने उनकी दाल गलना मुश्किल ही नहीं न मुमकिन है. इमरान खान देर से समझे लेकिन समझ गए की कश्मीर भारत का है उसको भूल जाना ही इमरान के लिए बेहतर है.