देश विरोधी हरकतों से निपटने के लिए IIT बॉम्बे ने बनाये ये नियम

1831

देश में आये दिन किसी न किसी वजह से प्रदर्शन होते रहते हैं. वहीं देश के कुछ शिक्षण संस्थानों में भी इसका असर देखने को मिलता हैं. हाल ही में कुछ समय पहले CAA के विरोध में दिल्ली के JNU में विरोध प्रदर्शन देखने को मिला तो उसके साथ देशभर के अन्य विश्वविधालयों में भी इसके प्रति विरोध प्रदर्शन देखने को मिला. जिसके बाद jnu में हिंसक प्रदर्शन भी हुआ. जिस वजह से देश भर में गहमागहमी का माहौल बन गया.

बात दें देश में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों की वजह से मुंबई IIT ने हॉस्टलों के नियमों में परिवर्तन किया है. दरअसल मुंबई IIT के कुछ छात्रों ने पिछले हफ्ते संस्था के संस्थापक को लिखित पत्र दिया जिसमे उन्होंने लिखा की संस्था को गैर राजनितिक रखने की निंदा की. जिसके बाद नए आये नियमों में इस बात का जिक्र किया गया है कि संस्था के सुरक्षाकर्मियों को कैंपस में उपद्रवियों पर कार्यवाई करने का पूरा अधिकार हैं. वही 15 नियमों वाली इस नियमावली में 10वें नंबर पर लिखा गया हैं कि उसमे कोई भी छात्र कैंपस में राष्ट्र विरोधी, गैर सामाजिक या किसी भी प्रकार की गतिविधियों में शामिल नहीं हो सकते हैं.

इन सब के बीच IIT बोम्बे के डायरेक्टर सुभाशीष चौधरी ने छात्रों से कहा की कैम्पस से किसी भी प्रकार के राजनितिक विचार को कैंपस से बाहर रखे जिसके बाद उन्होंने नियमावली को पेश किया. जिस पर एक छात्र ने इसका विरोध किया और शरजील इमाम के समर्थन में नारे लगाये. जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया. बता दें छात्र CAA के विरोध में देशभर में प्रदर्शन कर रहे हैं. इसी वजह से छात्रों को राष्ट्र विरोधी गतिविधियों से दूर रखने के लिए नए नियम लाये गए हैं. वही एक छात्र ने कहा की ये मेल आज आया हैं. CAA के समर्थन में एक छात्र ने कहा कि क्या राष्ट्रवाद हैं, क्या राष्ट्र विरोधी. आप इसे किस तरह परिभाषित कर रहे हैं. जो लोग शरजील इमाम के साथ हैं वो एंटी नेशनल हैं.