एयर स्ट्राइक का सबूत मांगने वाले दिग्विजय सिंह को लोगो ने बढ़िया से सुनाया दिया

516

पुलवामा हमले के बाद बदले की मांग उठी और सरकार ने भी सेना को खुली छूट दी जिसके बाद वायुसेना ने पाकिस्तान के घर मेंं पल बढ़ रहे आतंकियों के ठिकाने पर हमला बोल दिया जिसमें सैकड़ो आतंकी मारे गए। लेकिन पुरानी रीति पर चलते हुए विपक्ष इस बार भी सेना की काबिलयत पर सवाल उठाने से बाज नही आया और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने एयर स्ट्राइक पर सबूत मांग लिए। बयान के इन दोनों को लोगो के गुस्से का भी सामना करना पड़ा है।


अभी 3 मार्च को ही दिग्गविजय सिंह ने एयर स्ट्राइक के मसले पर मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा करने के लिए ट्विटर पर लिंक के साथ एक पोस्ट लिखा था कि क्या है बालाकोट बमबारी का सच। मोदी भक्तों,क्या प्रभात शुंगलू भी देशद्रोही है।

अब उनका इतना पोस्ट करना था कि लोग भी हो गए चालू। कोई सरकार का विरोध करने के फेर में सेना पर ही सवाल उठा दे ये हम भारतीयों में से शायद ही कोई बर्दास्त करेगा। कमेंट बॉक्स में लोगो ने दिविजय सिंह को जमके पीटा। बढ़िया क्लास लगाई,जितना कोई सोच भी नही सकता उतना सुनाया गया। 

सौरभ नाम कह रहे है की अरे ओ ठरकी जा पहले अपने आपको सुधार,जरा सबको बता की तेरा सच क्या है,चोर पार्टी के गुलाम इंसान

पंजाबी मुंडा नाम के यूजर कह रहे हैं कि बमबारी का सच पता करने को इतने ही बेकरार है तो अपने पुत्र के साथ एलओसी पार जाकर देख सकते हैं। आपने देश की वायुसेना पर सवाल उठाकर देशद्रोह किया है। आप भी पाकिस्तान की ही भाषा बोल रहें हैं जिसका उत्तर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को देना होगा जब वो हमारे घर वोट माँगने आएंगे।

विपिन जैन ने लिखा कि पाकिस्तान से कितना फंड मिल रहा है देश की सुरक्षा को सार्वजनिक करने के लिए।
नितिन कुमार ने कमेंट किया कि 30 सालों से बस एक सवाल था कि इन कुत्तों ने हमारे कितनो को मारा,पर आज का सवाल है कि कितने कुत्ते मरे,अब 300 सगे संबंधी मरे और कांग्रेस सबूत भी ना मांगे।

अतुल शुक्ला लिखते है कि बुढापे में ज्यादा दिमाग नही चलाना चहिए, हराम का पैसा बहुत कमा लिए हो,अब घर बैठो और अपने से 40 साल छोटी गर्ल फ्रेंड से इश्क फरमाओ
सुनील कह रहे है कि चचा मोदी से दिक्कत है पर देश से तो प्यार कर लो।

शुभम जायसवाल कह रहे है कि मोदी जी अनुरोध है कि कम से कम 200 ग्राम का सबूत इनके घर पर फेंका जाए। गद्दार।जयंत कह लिख रहे है,अबे ओ पाकिस्तानी,देशद्रोही।

रोहित शर्मा लिख रहे है कि कसाब को कांग्रेस ने फांसी नही दी है बल्कि उसे गुपचुप तरीके से पाकिस्तान भेजा,किसी ने उसकी लाश देखी क्या ? कांग्रेस सबूत दो।

हितेश नाम के यूजर ने कमेंट में लिखा कि अरे ओ चाचा राजीव गांधी की लाश नही मिली थी तो क्या वो अभी तक ज़िंदा है,सबूत दिखाइए उनका भी।

सुनील सिंह कह रहे हैं कि 100 ग्राम के बम से बाप के चिथड़े उड़ गए थे,जूतों से शिनाख्त हुई थी और तुम्हे 100 किलो के बम से मरने वालों के फ़ोटो चहिए।

इसके अलावा हज़ारों कमेंट किए गए जिनमे दिग्विजय को जमके गरियाया गया। 


हम तो बस यही कह सकते है कि राजनीतिक विरोध में इतने भी शक्की मत बनो की अगली बार किसी के घर वोट माँगने भी ना जा सको। ये जो बदलते भारत की जनता है ना ये बड़ी समझदार है। अच्छे और बुरे में बहुत अच्छे से फर्क समझती है। आप खूब धरना दो मोदी सरकार के खिलाफ,खूब सवाल पूछो सरकार से क्योकि ये आपका अधिकार है पर बॉस अगर अपनी घटिया राजनीति के चक्कर मे हमारी सेना पर सवाल उठाओगे तो देश मे बैठा बच्चा बच्चा आपको ऐसे ही सुनाएगा। उम्मीद है आप समझेंगे वरना जनता चुनाव मे सब समझाने का माद्दा भी रखती है।

ReplyForward