कैसे दुखी होकर भारतीय एयर स्ट्राइक की बात खुद स्वीकार रहा है एक आतंकी

303

पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक हुई और सैकड़ो आतंकी मारे गए लेकिन देश मे बैठे कुछ लोग हमेशा की तरह सबूत माँगने से बाज नही आए। हालांकि पिछली बार की सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले अरविंद केजरीवाल साहब तो इस बार चुप ही रहे लेकिन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह मुँह पर टेप लगाके बैठे नही रह सके और उठा दिए इस बार की एयर स्ट्राइक पर सवाल।
जहां ममता बनर्जी ने शब्दों का जाल बुनते हुए कह दिया कि देश जानना चाहता है कि आख़िर सेना ने आतंकियों के किन ठिकानों पर हमला किया और कितने आतंकी मारे गए. कई मौको पर आतंकियों को इज्जत बख्शने वाले नेता दिग्विजय सिंह ने भी मोदी सरकार को लपेटे में लेते हुए कहा कि जिस तरह अमेरिका ने ओसामा बिन लादेन पर कारवाई का प्रमाण दुनिया को दिया था ठीक उसी तरह से हमे भी सबूत देश के सामने रखने चहिए।

वैसे पहली बात तो वे थी कि जब वायुसेना ने कह ही दिया था उसने सरकार को इस एयर स्ट्राइक से जुड़े पर्याप्त सबूत दे दिए है और अब ये सरकार को तय करना है कि इनको कब सार्वजनिक करना है।
वायुसेना के इस स्टेटमेंट के बाद भी ना जाने एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाने का क्या मतलब है।


ख़ैर,अभी हाल ही में आतंकी संग़ठन जैश ए मौहम्मदके सरगना मसूद अजहर के भाई अम्मार का एक ऑडियो सामने आया है। ये ऑडियो एयर स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले लोगो के मुँह पर तमाचा मार रहा है।
दरअसल ऑडियो में मसूद अजहर का भाई अम्मार दुखी आवाज के साथ बोल रहा है कि भारतीय वायुसेना ने उसके ठिकानों पर हमला किया है। ऑडियो में वो कहता है की वायुसेना ने उस जगह बम गिराए जहां जैश ए मौहम्मद का ट्रेनिंग कैम्प चलता था। उसने माना कि भारत ने किसी एजेंसी की बिल्डिंग पर हमला नही किया बल्कि भारतीय वायुसेना ने उस जगह को निशाना बनाया जहां एजेंसी के लोग मीटिंग किया करते थे ।
वो साफ कह रहा है इन जगहों पर युवाओं को जिहाद की ट्रेंनिंग दी जाती थी।

इस ऑडियो को अगर गौर से सुना जाए तो इसको सुनते हुए ऐसा लग रहा है की ये आतंकी बड़ी मुश्किल से अपने आपको संभालकर इस ऑडियो को रिकॉर्ड कर रहा है। अपनो को खोने के बाद का दर्द उसकी आवाज़ में साफ महसूस किया जा सकता है।
इस ऑडियो को पाकिस्तान से निकाले गए एक पीटकर ताहा सिद्दकी ने अपने ट्विटर एकाउंट से पोस्ट किया है। हालांकि the chaupal इस ऑडियो की सत्यता की पुष्टि तो नही करते लेकिन ऑडियो में जिस तरह की आवाज़ आ रही है वो अम्मार से ही मिलती जुलती है।
इसलिए इस ऑडियो पर शक भी करना बड़ा मुश्किल सा है.

वैसे देखना दिलचस्प रहेगा कि ये ऑडियो एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले सभी लोगो तक पहुँचने के बाद आख़िर उनका क्या रियेक्शन सामने आता है। 
उम्मीद है इस ऑडियो के सामने आने के बाद सबूत मांगने वालों के मुँह बन्द होंगे और वो इस तनावपूर्ण माहौल में तन-मन-धन के साथ भारतीय सेना और सरकार के साथ खड़े हुए दिखाई देंगे।