कश्मीर पर फिर सवाल किये जाने पर कांग्रेस पर भड़के अमित शाह!

1310

कश्मीर से धारा 370 हुए कई महीने बीत गये हैं. कोई भी बड़ी वारदात सामने नही आई है लेकिन विपक्ष लगातार आरोप लगाता रहा है कि कश्मीर में स्थिति सामान्य नही है. वहीँ सोमवार को एक तरफ जहाँ नागरिकता संशोधन विशेयक पास किया गया तो दूसरी तरफ मंगलवार को सदन में फिर कश्मीर के मुद्दे को उठाया गया. कांग्रेस ने जब मुद्दे को सदन में उठाया तो अमित शाह ने क्या जवाब दिया?

कांग्रेस की तरफ से आरोप लगाया गया कि कश्मीर में स्थिति सामान्य नही हैं. इसी पर जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर में अब हालात पूरी तरह से सामान्य हो गए हैं. जम्मू कश्मीर में 5 अगस्त को हुए बदलाव के बाद जहां विपक्ष खून की नदियां बहने की बात कह रहा था, वहीं 370 हटने के बाद वहां एक भी गोली नहीं चली है. वहीं नजरबंद नेताओं की रिहाई को लेकर शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हिरासत में लिए गए नेताओं को छोड़ने का निर्णय स्थानीय प्रशासन की ओर से लिया जाएगा.

वहीँ विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सवाल पूछा कि राहुल गांधी को कश्मीरे क्यों नहीं जाने दिया गया? जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि वहां 370 हटने के बाद निकाय चुनाव बेहद शांतिपूर्ण तरीके से हुए हैं. कांग्रेस पर तंज कसते हुए अमित शाह ने कहा कि कश्मीर के हालात तो नॉर्मल हो गए हैं लेकिन कांग्रेस के हालात के लिए मैं कुछ नहीं कर सकता. इसके साथ ही सवाल पूछा गया था कि जम्मू-कश्मीर में फारूक अब्दुल्ला और दूसरे नेताओं को कब रिहा किया जाएगा और क्या वहां राजनीति गतिविधि बहाल है? इसका जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस ने 11 साल तक फारूक अब्दुल्ला के पिता को कैद करके रखा था. हम कांग्रेस को फॉलो नहीं करेंगे. प्रशासन को जब उचित लगेगा, तब उन्हें हिरासत में लिए गए नेताओं को रिहा कर दिया जाएगा.

दरअसल सरकार लगातार दावा करती आई है कि कश्मीर में स्थिति सामान्य है. कोई दिक्कत नही है. जनजीवन सामान्य हैं इसके बावजूद भी कांग्रेस की तरफ आरोप लगाया जाता रहा है कश्मीर में सबकुछ सामान्य नही है. सरकार देश से छुपा रही है. हालाँकि जानकारी के लिए बता दें कि धारा 370 हटाए जाने के बाद एब भी आतंकी घटना और पत्थरबाजी की घटना सामने नही आई है.