गुजरात में कांग्रेसी विधायकों ने दिया इस्तीफा तो तिलमिला उठे हार्दिक पटेल और दे डाला वि-वादित बयान

मध्यप्रदेश में चल रही सियासी हलचल खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. सिंधिया समर्थक 22 विधायकों ने अपना एक साथ इस्तीफा देकर कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका दे दिया है और कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल ला दिए हैं. एक तरफ बीजेपी अपनी सरकार बनाने के दावा कर रही है और राज्यपाल के समक्ष अपने विधायकों की परेड भी करवा चुकी है तो वहीं दूसरी तरफ कमलनाथ सरकार बचाने में लगे हुए हैं. इसी बीच बड़ी खबर गुजरात से भी आ रही है.

जानकारी के लिए बता दें मध्यप्रदेश में तो कमलनाथ सरकार गिरने के कगार पर पहुंच चुकी है वहीं गुजरात में भी सियासी हलचल तेज हो गयी है. गुजरात में भी राज्यसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गयी है. राज्यसभा चुनाव के चलते गुजरात में भी 5 कांग्रेसी विधायकों ने पार्टी को बड़ा झटका देते हुए इस्तीफा दे दिया है.

कांग्रेस लगातार बीजेपी पर आरोप लगा रही है कि वो उनके विधायकों को खरीद रहे है और उन्हें कैद कर लिया गया है. तो वहीं दूसरी तरफ एमपी में इस्तीफा देने वाले विधायकों ने पार्टी के इन आरोपों को ख़ारिज करते हुए कहा है कि हम अपनी मर्जी से यहाँ आए हैं, कमलनाथ सरकार में हमारी कोई सुनने वाला नहीं था और हमारे क्षेत्र में किसी तरह का विकास नहीं हो रहा था और हम किसी भी कांग्रेसी नेता से मिलना नही चाहते. इसी हलचल के बीच गुजरात में विधायकों के दिए गये इस्तीफे हार्दिक पटेल ने बड़ा बयान दिया है.

गौरतलब है कि अपने बयानों से चर्चा में आए हार्दिक पटेल ने कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफे के बाद विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि जनता को धोखा देने वाले विधायकों की सरेआम चप्पलों से पिटाई होनी चाहिए. इतना ही नही उन्होंने बीजेपी पर विधायकों को खरीदने का भी आरोप लगाया है. दरअसल गुजरात की 4 राज्यसभा सीटों के लिए 26 मार्च को चुनाव होने हैं. इसी बीच बड़ी सियासी हलचल जारी है.