आ’तंकि’यों ने घर में घुस कर बं’दी बना लिए नागरिक, बचाने के लिए घर में घुस गए सेना के 5 जवान और फिर…

4241

जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में भारतीय सेना के जवानों ने साहस और शौर्य की एक ऐसी मिसाल पेश की जिसने आज हर किसी की आँखें नम कर दी है. सोशल मीडिया पर लोग सेना के जवानों को सलाम कर रहे हैं. भारतीय सेना के जवानों ने आ’तंकि’यों द्वारा बं’धक बनाए गए नागरिकों को ब’चाने के लिए अपनी जा’न की परवाह नहीं की और घर में घुस कर आ’तंकि’यों को मा’र गिराया. लेकिन इस ऑपरेशन में सेना के चार जवान कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद, नायक राजेश और लांस नायक दिनेश और जम्मू और कश्मीर पुलिस के एक सब-इंस्पेक्टर शकील काजी श’हीद हो गए. लेकिन शहीद होंने से पहले उन्होंने दो आ’तंकि’यों को मा’र गिराया और नागरिकों की जा’न बचा ली.

शहीद कर्नल आशुतोष शर्मा अपनी बेटी के साथ (फ़ाइल फोटो)

हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में आ’तंकि’यों की मौजूदगी के बारे में खुफिया इनपुट मिली थी. आ’तंकि’यों ने घर में कई लोगों को बं’धक बना लिया था और अन्दर से लगातार फाय’रिंग कर रहे थे. नागरिकों को बचाने और आतं’कि’यों को मा’र गि’राने के लिए सुरक्षा बलों ने जॉइंट ऑपरेशन चलाया. इसमें सेना की राष्ट्रीय रायफल्स और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान शामिल हुए. भी’षण गो’लीबा’री के बीच एक-एक करके घर में बं’धक बनाए गए सभी नागरिकों को सुरक्षित निकाल लिया गया. लेकिन जवानों को अपनी जा’न की कुर्बानी देनी पड़ी.

भारतीय सेना की तरफ से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है, ‘नागरिकों को सुरक्षित निकालते हुए हमारे जवान आ’तंकि’यों की भारी फा’यरिं’ग की चपेट में आ गए. इस दौरान दो आ’तंकि’यों को मा’र गिराया गया. सुरक्षा बलों की टीम में शामिल दो आर्मी अफसर, दो जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक एसआई इस ऑपरेशन में शहीद हो गए.’