कोरोना का’ल में मौके का फा’यदा उठा रहे रहे है’कर, सीबीआई ने जारी किया अ’लर्ट

661

दुनियाभर में लाखों करोडो लोग मोबाइल फ़ोन का इस्ते’माल करते है. जिस पर हर रोज तरह तरह के एप्ली’केशन आत रहते है. जिस पर यूजर बिना सोचे समझे कभी कभी क्लि’क भी कर देते है. जिससे आपके फ़ोन में कुछ ऐसे वायर’स इंस्टा’ल हो जाते है. जिनका आपको पता भी नहीं चलता है.

कुछ ऐसा ही इन दिनों भी हो रहा है. दरअसल देशभर में कोरोना का क’हर बरस रहा है. ऐसे में यूजर फ़ोन पर ए’प्प के जरिये और ऑनला’इन सा’इट्स पर जाकर कोरोना से जुडी सभी अपडे’ट ले रहे ही. जिसका नतीजा कभी कभी ये हो रहा है. की वो कुछ ऐसी ए’प्लीकेशन पर भी क्लि’क कर दे रहे है. जिससे उनके फ़ोन में वायरस इं’स्टाल हो जा रहे है. और ये कोई नॉ’र्मल वायरस नहीं है.

दरअसल ये है’कर के द्वारा क्रि’एट किये जा रहे है. जिससे आपके फ़ोन में ख’तरा बढ़ता जा रहा है. जिसपर सीबी’आई ने इस अ’लर्ट में राज्यों की पुलिस और का’नूनी संस्थाओं को एक मैलवे’यर (वायरस) पर नजर रखने के लिए कहा है. यह खतर’नाक मैल’वेयर खुद को कोरोना वायरस अप’डेट से जुड़ा बताता है. और लोगो को फ’र्जी कोरोना की अप’डेट की आ’ड़ में हैकिं’ग का काम कर रहा है.

वही एक्स’पर्ट्स और ब्लॉ’गर्स ने इस ‘Cerberus’ के खत’रनाक परिणा’म को बताते हुए यू’जर्स को इससे सा’वधान रहने की सला’ह दी है. इसके साथ ही कहा है कि यदि एक बार अगर यह फोन में इं’स्टॉल हो गया तो यह काफी ज्यादा डेटा की चो’री कर सकता है. जिससे यूजर के पर्स’नल डेटा के साथ साथ और भी जरुरी डेटा को चु’रा कर  हैक’र इसे किसी रिमोट सर्व’र पर भेज देते है.