पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के वीआरएस लेने के बाद उनकी माँ ने कहा कि ‘अब राजनीति में…’

149

बिहार विधानसभ चुनाव की तारीख अभी तक डिक्लेअर नही हुई है. चुनाव आयोग ने अपनी तैयारी पूरी कर ली है और जो बची है. उससे पूरा करने में लगे हैं. बिहार चुनाव के मद्देनज़र सभी पार्टियों ने चुनाव की कैंपेनिंग शुरू कर दी है. सत्ता पक्ष और विपक्ष में भी ती’खी नो’क’झो’क चल रही है. दूसरी तरफ बिहार से एक और बड़ी खबर आ रही है. सुशांत सिंह की मौ’त के बाद हा’ई’ला’इट हुए बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने वीआरएस ले लिया है.

गुप्तेशवर पांण्डेय के वीआरएस लेने के पीछे ये अ’टक’ले लगाई जा रही है की हो सकता है वो चुनाव मैदान में उतर सकते है. लेकिन अभी इस बात को लेकर पाण्डेय ने राज़ कायम रखा है. इसी क्रम में गुप्तेशवर पांण्डेय की मां ने अपने बेटे को लेकर कहा है कि ‘वे हमेशा से गांव के लोगों की मदद किया करते थे. गरीब दलित परिवार की बेटियों की शादी भी कराते रहे हैं. अन्य गरीब परिवारों को मदद भी करते हैं. हमें विश्वास है, वे राजनीति में भी कुछ बड़ा करेंगे.’

वहीं बक्सर के रहने वाले बिहार के पूर्व महानिदेशक गुप्तेशवर पाण्डेय के गांव जब एबीपी की टीम पहुंची तो वहां पर लोगों का कहना था कि उनको विधायक नही सांसद बनना चाहिए. कई लोगों ने इस नि’र्ण’य की सराहना भी की. बहरहाल पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय चुनाव लड़ेंगे या नहीं यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा, लेकिन उनके वीआरएस देने के बाद कयासों का बाजार गर्म है.