मीर तकी मीर पुरस्कार से सम्मानित इस बड़े शायर का हुआ नि’धन, देश में शोक की लहर

190

कोरोना वायरस की वजह से देश में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा और मौ’तों को आंकड़ा दोनो तेजी से बढ़ रहा है. कोरोना की वजह से देश में कई जाने ले ली है. साल 2020 देश के लिए बहुत ही द’र्दभरा रहा है. जिछले महिने की बात करें तो बॉलिवुड़ के दिग्गज कलाकार ने दुनिया को अल’विदा कह दिया. अब एक मशहूर शायर  हमारे बीच नही रहे.

हम बात कर रहें है मशहूर शायर आनंद मोहन जुत्शी उर्फ गुलजार देहलवी का शक्रवार को नोएडा के कौलाश अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होने 94 वर्ष में उन्होने अपनी अंतिम सांस ली. दरअसल बीते रविवार को वह ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल से जं’ग जीतकर सेक्टर 26 स्थित अपने घर लौटे थे. एक बार फिर उनकी तबियत बिगड़ी तो घरवालो ने उनको नोएडा के कौलाश हॉस्पिटल में भर्ती करवाया था.बता दें कि आनंद मोहन का जन्म 7 जुलाई 1926 को हुआ था. उर्दू शायरी और साहित्य में योगदान के लिए उन्हें पद्म श्री से सम्मानित किया गया. साल 2009 में उन्हें मीर तकी मीर पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था.

आपको बता दे कि मशहूर शायर देहलवी को कोरोना की वजह से अस्पताल मैं भर्ती करवाया गया था. जहां से वो कोरोना से जं’ग जीतकर लौट आये थे. लेकिन उनकी तबियत फिर से बिगड़ गई जिसके बाद उनको फिर अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन इस बार ऊपर वाले को कुछ और ही मंजूर था और दहलवी ने इसके बाद अपने जीवन को हमेशा-हमेशा के लिए अलविदा कह दिया.