मध्यप्रदेश में चल रहे सियासी हलचल के बाद कांग्रेस को अब गुजरात में डर सता रहा है. एमपी में सिंधिया के साथ 22 विधायकों समेत मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है. इसके बाद से ही मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल छा गये हैं. 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद एमपी में कांग्रेस को अपनी सरकार बचाना काफी मुश्किल है. अब गुजरात में कांग्रेस को एक के बाद एक बड़े झटके लग रहे हैं.

जानकारी के लिए बता दें राज्यसभा चुनावो के चलते कांग्रेस को एक के बाद बड़े झटके लग रहे हैं. गुजरात में पहले 4 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था अब एक और विधायक ने इस्तीफा दे दिया है. अब कांग्रेस ने क्रॉस वोटिंग से बचने के लिए अपने विधयाकों को राजस्थान शिफ्ट करती जा रही है. गुजरात में 4 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होने हैं. जिसके चलते उठापठक चालू हो गयी है. पहले अंदाजा लगाया जा रहा था कि गुजरात में 2 सीट बीजेपी को 2 सीट कांग्रेस को मिल जाएँगी.

26 मार्च को राज्यसभा चुनाव होने हैं और कांग्रेस के पास 69 विधायक हैं. अभी हाल ही में कांग्रेस के 37 विधायकों को जयपुर लाया गया है. सभी विधायक जयपुर के शिव विलास होटल में ठहरे हुए हैं. कांग्रेस ने राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के डर से सभी विधायकों को कैद कर लिया है. 5 विधायकों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. अब ऐसे में गुजरात से कांग्रेस को 2 सीट जीत पाना बेहद मुश्किल है क्योंकि अब कांग्रेस के पास 69 विधायक बचे हैं और एक सीट के लिए 37 विधायकों का वोट चाहिए.

गौरतलब है कि बीजेपी ने गुजरात से तीन प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं. 182 विधायकों वाली गुजरात विधानसभा में अभी 180 विधायक हैं. कांग्रेस को इस बात का डर सता रहा है कि कहीं उनके विधायक राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग न कर दें इसीलिए उनकी बाडेबंदी की जा रही है. राजस्थान के मुख्य सचेतक महेश जोशी हैं, वह जब एयरपोर्ट पर विधायकों को लेने पहुंचे तो उनसे रिपोर्टर ने गुजरात कांग्रेस विधायक के जयपुर आने की वजह पूछी, जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि “सब कुछ ठीक है. हर पार्टी की अपनी रणनीति होती है. यहां आना भी रणनीति का हिस्सा है.”