पान मसाला खाना होगा महंगा, सरकार उठा सकती है ये बड़ा कदम !

393

देश में कोरोना का कहर लगातार बरप रहा है. हर दिन हजारों की संख्या में मरीज बढ़ रहे हैं और सैंकड़ों लोह जान दे रहे हैं. भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के मरीजों ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. भारत में 11 हजार से ज्यादा मरीज बढ़ने के बाद अब मरीजों की संख्या 3 लाख के पार पहुंच गयी है. सरकार के सामने ऐसी स्थिति में कई बड़ी चुनौती हैं. पीएम मोदी ने एक बार फिर से सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने का ऐलान किया है.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना महामारी के चलते मोदी सरकार जनता को एक के बाद एक बड़ी राहत दे रही है लेकिन अब पान मसाला खाने वाले लोगों को बड़ा झटका लग सकता है. अगर आप भी पान मसाला खाते हैं तो आपके लिए बुरी खबर है. दरअसल जीएसटी काउंसिल की 40 वीं बैठक में यूपी की तरफ से कर चोरी और राजस्व बढ़ाने के मुद्दे उठाए गये. जिसके बाद उत्तरप्रदेश की तरफ से शामिल हुए मंत्री ने कहा कि पान मसाला और ईंट भट्टों पर जीएसटी को लेकर विचार किया जाना चाहिए.

जीएसटी काउंसिल में उठे इस मुद्दे के बाद अब खबर आ रही है कि अगले महीने यानी जुलाई में सरकार पान मसाले पर टैक्स लगाकर सकती है जिससे ग्राहकों की जेब पर बुरा असर पड़ सकता है. सरकार राजस्व बढ़ाने के लिए ये कदम उठा सकती है. इतना ही नही ईंट पर भी सरकार GST बढाए जाने से भवन निर्माण भी महंगा हो सकता है.

गौरतलब है कि देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया है कि जीएसटी बैठक में उत्तरप्रदेश सरकार की तरफ से पान मसाला और ईंट भट्टों पर जीएसटी को लेकर सवाल उठाया है और अपना राजस्व बढ़ाने के लिए काउंसिल से जल्द फैसला लेने का आग्रह किया है. जिसके बाद अब बड़ा फैसला लिया जा सकता है. पान मसाले पर अभी 28 फीसदी जीएसटी और 60 फीसदी सेस लगाया जाता है. पान मसाला छोटे सैशे पाउच में बिकता है, जिसका अधिकतर भुगतान नगद में किया जाता है. जिसके चलते चलते कर अधिकारी इसका सही आंकलन नही कर पाते हैं. जिससे कर चोरी की आशंका बनी रहती है.