क्या आपको भी सता रहा है 2000 के नोट बंद होने का डर! देखिये मोदी के मंत्री ने संसद में क्या जवाब दिया

2887

पिछले काफी समय से 2000 की नोट बंद होने की चर्चा खूब हो रही है. समय समय पर इस तरह की ख़बरें उडती रहती है कि सरकार 2000 के नोट बंद करने जा रही है. अब इस खबर पर सरकार की तरफ जवाब दिया है कि आखिर 2000 नोट बंद करने के पीछे सरकार की राय है? क्या प्लान है?

दरअसल के सवाल के जवाब में राज्यसभा में केन्द्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने जवाब दिया है. आपको बता दें कि अनुराग ठाकुर से पूछा गया था कि क्या सरकार चरणबद्ध तरीके से 2,000 रुपये के नोट को बंद करने जा रही है, अनुराग ठाकुर ने इसी के बारे में जवाब दिया. इसी के जवाब में अनुराग सिंह ठाकुर ने मंगलवार को राज्यसभा में एक प्रश्न के जवाब में कहा कि सरकार का फिलहाल 2000 के नोट को बंद करने की कोई योजना नहीं है.

8 नवम्बर 2016 को सरकार ने 500 और 1000 के नोट को बंद करने का फैसला लिया था. इसके बाद 2000 नोट चलन इन आया था. इसी के साथ रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया की वार्षिक रिपोर्ट के आधार पर अनुराध ठाकुर ने कहा कि 31 मार्च 2019 तक 2,000 रुपये के नोटों का सर्कुलेशन कुल नोटों के सर्कुलेशन का 31.18 फीसदी है. कुल नोटों के सर्कुलेशन का वैल्यू 21,109 अरब रुपये है और इसमें 2,000 रुपये के नोटों के चलन की वैल्यू 6,582 अरब रुपये है.

हालाँकि अगर अब अभी आपके मन में 2000 नोट के बंद होने की शंका है तो अब आप निश्चिन्त हो जाइए क्योंकि सरकार ने साफ़ कर दिया है कि 2000 का नोट बंद करने की कोई भी योजना अभी सरकार के पास नही है. इसका मतलब यही हुआ है कि आने वाले दिनों में 2000 के नोट के बंद करने की कोई योजना नही है.