2023 तक है सरकार की प्राइवेट ट्रेन के साथ इन गाड़ियों को भी चलाने की योजना

18

जब से देश में कोरोना का क’हर बरसा है तभी से लोगो का जीवन अ’स्त व्य’स्त हो गया है. वही लॉकडाउन के कारण सारे काम काज भी ठ’प हो गए जिसका असर देश की अर्थ’व्यवस्था पर पड़ा. जिसकी वजह से स्थिति काफी ज्यादा ख़राब हो गयी है.

वही अब लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद से जल्द ही  प्राइवेट ट्रेनें भी पटरी पर दौड़ती नजर आएगी. दरअसल सरकार ने इसके लिए तैयारी कर ली है और इस बात की घोष’णा कि है मार्च 2023 से प्राइवेट ट्रेनें चलने लगेंगी. इसके अलावा सरकार की योजना के अनुसार सिर्फ प्राइवेट यात्री ट्रेनें ही नहीं चलेंगी बल्कि प्राइवेट मालगाड़ियां भी चलाने की योजना बना रही है और उम्मीद लगायी जा रही है कि प्राइवेट ट्रेनें पटरी पर दौड़ना शुरू करेंगी, प्राइवेट मालगाड़ियों के लिए भी सरकार घोषणा कर देगी.

इसके अलावा सरकार की ओर से प्राइवेट फ्रेट ट्रेन यानी मालगाड़ियां चलाने के फैसले से डेडिकेटेड फ्रेट कोरिडोर बनाने के काम में तेजी आएगी और इससे निजी क्षेत्र से अच्छा निवेश भी आएगा. बता दें रेलवे से सामान भेजना सड़क मार्ग से सामान भेजने की तुलना में बहुत अधिक सस्ता पड़ता है. ऐसे में अगर डेडिकेटेड फ्रेट कोरिडोर में ये कीमतें कुछ बढ़ भी जाती हैं. तो भी वह सड़क मार्ग की तुलना में सस्ता ही रहेगा और कारोबारियों के बीच आक’र्षण का केंद्र बना रहेगा. जाहिर है देश को नयी दिशा देने के लिए सरकार अपनी तरफ से हर मु’मकिन प्रयास कर रही है.