कोरोना के चलते सरकार ने एटीएम से पैसे निकालने को लेकर किया ये ऐलान

314

कोरोना ने पूरी दुनिया में इस समय हाहाकार मचा रखा है. सरकार एक के बाद एक बड़ा कदम उठा रही है और पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसी सुविधाओं को बंद कर रही है जिससे एक साथ ज्यादा लोग एक जगह एकत्रित ना हो और ये वायरस और लोगों में न फैले. वहीं केंद्र सरकार और राज्य सरकारें लगातार लोगों से अपील कर रही हैं कि वह इस मुश्किल भरे समय में घर में ही रहें. मोदी सरकार के साथ राज्य सरकारें भी अपनी देश की जनता को इस गंभीर बीमारी से बचाने के लिए लगातार एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही है. कोरोना के संक्रमण के खतरे को देखते हुए भारतीय रेलवे ने 31 मार्च तक सभी यात्री ट्रेनों को कैंसल कर दिया है.

कोरोना वायरस के चलते इस समय पूरे देश में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है. सरकार इस वायरस से निपटने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है और जनता को लेकर एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही है. सरकार द्वारा उठाये गये इन क़दमों की जितनी तारीफ़ की जाए कम है. सरकार लगातार लोगों को घरों में रहने की अपील कर रही है ताकि अधिक से अधिक लोगों को इसकी चपेट में आने से बचाया जा सके.

सरकार घरों में रहने वाले लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए लगातार बड़े कदम उठा रही है. ऐसे समय में सरकार ने एक बहुत बड़ा कदम उठाया है. सरकार ने फैसला लिया है कि अगले तीन महीनों तक कोई भी अपने ग्राहकों से किसी अन्य बैंक के एटीएम से पैसे निकालने पर चार्ज वसूल नहीं करेगी.

गौरतलब है कि सरकार के इस कदम के पीछे मंशा ये है कि लोग अपने घर के पास में ही एटीएम से पैसे निकाल सकें और कहीं दूर नहीं जाएँ. सरकार चाह रही है कि इस दौरान लोग अधिक से अधिक डिजिटल ट्रांजेक्शन करें जिससे कोरोना वायरस के चलते जो अर्थव्यवस्था डाउन हो रही है उसकी भरपाई हो सके. इससे पहले 5 ट्रांजेक्शन फ्री हुआ करते थे और उसके बाद किसी और बैंक के एटीएम से पैसे निकालने पर चार्ज वसूला जाता था अब सरकार ने ये बड़ा फैसला जनता हित में लिया है.