कोरो’ना से जं’ग के बीच तैयार किया गया गोरखपुर मॉडल, केंद्र तक हो रही तारीफ,जानिए क्या है गोरखपुर मॉडल में ख़ास

1030

लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया गया हैं. कोरो’ना के बढ़ते मामले को देखते हुए. देश के अंदर ये कदम उठाया गया हैं. उत्तर प्रदेश चर्चा का विषय बना रहता हैं. कुछ ऐसा ही इस बार उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में देखने को मिला हैं. गोरखपुर ने एक मॉडल को तैयार किया है. जिसकी काफी प्रशंसा हो रही हैं. गोरखपुर योगी आदित्यनाथ का घर है. जिसकी आज कल तारीफ हो रही हैं.    

उत्तर प्रदेश का गोरखपुर में लॉकडाउन के दौरान लोगों तक सामान की आवश्यकता की आपूर्ति बहुत ही प्रभावी ढंग से हो रही है. यहां पर लोग अपने घरों में हैं और उन तक सभी आवश्यक वस्तुएं पहुंच रही हैं. लोग काफी संतुष्ट भी दिख रहें हैं. योगी सरकार की भी लोग तारीफ कर रहें हैं. कोरो’ना की इस लड़ाई को जीतने के लिए गोरखपुर ने भी एक मॉडल बनाया है. जिसकी सूचना केंद्र तक पहुंची है और अब केंद्र ने जिला प्रशासन से संपर्क किया है. इस मॉडल को लेकर. जिला प्रशासन से कहा गया है कि इससे बड़े पैमाने पर लागू करने के इरादे से सिस्टम मांगा गया है.

आईएएस अधिकारी गौरव सिंह जो 2017 बैच के हैं. इन्होने ही गोरखपुर मॉडल को बनाने में मदद की है. उन्होंने खुद बताया कि  ‘लॉकडाउन में हमारी ओर से उठाए गए कदम के बारे में भारत सरकार के एक बड़े अधिकारी ने फोन पर जानकारी ली और उन्होंने मेरी तारीफ भी की इस मॉडल को लेकर. जब मैंने उन्हें ऑनलाइन डिलीवरी सिस्टम के बारे में बताया, तो उन्होंने मुझे एक प्रजेंटेशन तैयार करने के लिए कहा, ताकि उपयुक्त पाए जाने पर इसे अन्य जगहों पर भी लागू किया जा सके.

यूपी के जिला गोरखपुर के एसडीएम ने बताया, ‘हमने गोरखपुर को आठ क्षेत्रों में विभाजित किया है और इसमें 1,400 दुकानें, थोक व्यापारी और नौ ऑनलाइन पोर्टल शामिल हैं, जो आवश्यक वस्तुओं की सुचारू वितरण के लिए हैं. पोर्टल्स के डिलीवरी स्टाफ के अलावा, हमने डिलीवरी के लिए लगभग 1,000 लोगों को काम पर रखा है, जिन्हें दुकानों और पोर्टल्स द्वारा भुगतान किया जा रहा है. हमने फेसबुक पर सभी विवरण पोस्ट करके ऑनलाइन वितरण प्रणाली के बारे में जागरूकता फैलाई.

कोरो’ना जैसी महा’मा’री से लड़ने के लिए आज हर प्रदेश जिला अपने अपने हिसाब से कोरो’ना की लड़ाई लड़ रहा हैं और कोरो’ना बिमारी को देखते हुए लोगों को कोई दिक्कत का सामना ना हो इसलिए लोगों को सामान भी मुहहिया करवाने के लिए भी जिला प्रशासन लगा हुआ हैं. ये भी काफी अच्छी बात है ताकि लोग घर के अंदर रहें और बाहर न निकलें.