बड़ी खुशखबरी: दिल्ली में कोरोना इलाज होगा इतने गुना सस्ता, गृह मंत्रालय ने फिक्स किये रेट

257

दिल्ली के अंदर कोरोना के मरीजो की संख्या बढती जा रही हैं. इसको देखते हुए गृह मंत्री ने बैठक कर के दिल्ली के अंदर की हालत का जायजा लिया था. उसके बाद ये कहा गया था की दिल्ली में कोरोना के इलाज़ की दरे कम कर दी जाएँगी. इसको लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल के नेतृत्व में एक आयोग का गठन किया था, जिसे दिल्ली के निजी अस्पातलों में आइसोलेशन बेड, बिना वेंटिलेटर सपोर्ट के साथ ICU और वेंटिलेटर सपोर्ट के ICU में कोरोना के इलाज की दर तय करनी थी. रिपोर्ट के अनुसार, गृह मंत्रालय ने कमिटी की सिफारिश मान ली है.

कमिटी ने पीपीई किट के साथ आइसोलेशन बेड की कीमत को तय कर दिया है. उसने 8 हज़ार से 10 हज़ार रुपये आइसोलेशन बेड का तय किया हैं. बिना वेंटीलेटर के साथ ICU बेड का चार्ज 13-15 हज़ार रुपये होगा. जबकि वेंटीलेटर के साथ ICU बेड का चार्ज 15 से 18 हज़ार होगा. आपको बता दें की इससे पहले निजी अस्पतालों में आइसोलेशन बेड का चार्ज 24-25 हजार रुपये था. वहीं ICU बेड का चार्ज 34-43 हजार के बीच था जबकि ICU वेंटिलेटर के साथ 44-54 हजार रुपये था। ये चार्ज पीपीई किट को छोड़कर लगते थे.

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए गृह मंत्रालय ने दिल्ली में कोरोना टेस्टिंग के रेट फिक्स कर दिए हैं. अब दिल्ली में कोरोना की टेस्टिंग के लिए आपको 2400 रुपये देने होंगे. इसे पहले 4500 रुपये देने पड़ते थे. गृह मंत्री की बैठक के बाद दिल्ली के अंदर कोरोना का इलाज़ करवाना अब सस्ता हो गया हैं. क्योकि दिल्ली में कोरोना के मरीजो की संख्या बढती जा रही हैं. ताज़ा आंकड़े की बात करें तो दिल्ली के अंदर 50 हज़ार से ज्यादा कोरोना मरीज हो चुके हैं.