कोरोना संकट के बीच भारत की अर्थव्यवस्था के लिए आई अच्छी खबर, विदेशी कंपनियों ने किया इतने अरब डॉलर का निवेश

देश में कोरोना का कहर थम नहीं रहा है. केंद्र सरकार और अजय सरकारों की तमाम कोशिशों के बावजूद भी हालात हर दिन सुधरने के बजाय बिगड़ ही रहे हैं. पूरे देश में 31 मई तक के लिए लॉकडाउन चल रहा है जोकि सरकार धीरे धीरे कई बार बढ़ा चुकी है. पूरे देश में लगातार लॉकडाउन होने की वजह से सारे कामकाज ठप्प हो गये थे और हर तरह की आवाजाही बंद हो गयी थी.

जानकारी के लिए बता दें देशभर में लॉकडाउन की वजह से भारत की अर्थव्यवस्था पर भी बुरा असर पड़ रहा है, जिसके चलते ही पीएम मोदी ने 20 लाख करोड़ रूपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान करके इसे पटरी पर लाने का प्रयास किया है. इसी बीच एक बड़ी खबर और आ रही है. भारत में पिछले वित्तीय वर्ष 2019-20 में अर्थव्यवस्था की हालत अच्छी नहीं थी. जीडीपी ग्रोथ सुस्त होकर 5 फीसदी ही रह गयी थी.

जीडीपी 5 फीसदी रहने के बावजूद देश में इस साल प्रत्यक्ष विदेशी FDI 13 फीसदी बढ़कर 49.97 अरब डॉलर हो गया. सुस्त इकॉनमी के बावजूद भी FDI में 13 % की तेजी के साथ करीब 50 अरब डॉलर का निवेश हो चुका है. जोकि भारत के लिए अच्छी खबर है. वहीँ इससे पहले साल 2018-19 की बात करें तो देश में कुल 44.36 अरब डॉलर की FDI प्राप्त हुई थी. DPIIT के आंकड़ों के अनुसार देश में सर्विस सेक्टर में 7.85 अरब डॉलर का निवेश आया है.

गौरतलब है कि भारत सरकार ने अभी हाल ही में FDI नियमों के बदलाव करके सख्त नियम बना दिए हैं. भारत के साथ जमीन साझा करने वाले देशों की किसी भी कंपनी या व्यक्ति को भारत के किसी भी सेक्टर में निवेश करने से पहले सरकार को मंजूरी लेनी होगी. सरकार के इस कदम के बाद चीन जैसे देशों में होने वाले विदेशी निवेश पर ख़ास असर पड़ा है.