केंद्रीय कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा, रुका हुआ महंगाई भत्ता होगा शुरू, साथ ही महंगाई भत्ते में होगी बढ़ोतरी

122

केंद्र सरकार ने आज केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है. उनका महंगाई भत्ता (DA) बढ़ाने का ऐलान सरकार ने कर दिया. इस ऐलान का केंद्रीय कर्मचारी न्लाम्बे वक़्त से इंतज़ार कर रहे थे. सरकार ने DA/DR पर लगी रोक हटाने का फैसला करते हुए डीए और डीआर 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया. सरकार के इस फैसले से 60 लाख पेंशनर्स और 52 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को फायदा होगा . पिछले साल कोरोना महामारी की वजह से सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के डीए और पेंशनर्स के महंगाई राहत (DR) पर रोक लगा दी थी.

DA और DR बढ़ाने का सरकार का ये फैसला 1 जुलाई से लागू होगा. इस फैसले से सरकारी खजाने पर हर साल 34,401 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेस में यह जानकारी दी. कर्मचारियों और पेंशनर्स का 1 जनवरी 2020, 1 जुलाई 2020 और 1 जनवरी 2021 का डीए और डीआर पेंडिंग है. लेकिन बकाये पर बढ़ी हुई दर लागू नहीं होगी. 1 जुलाई 2021 से 28 फीसदी DA और DR का भुगतान किया जाएगा.

केंद्र सरकार महंगाई भत्ता छह महीने के महंगाई का औसत अनुमान पर तय करती है. डीए के आधार पर ही कर्मचारियों का HRA और मेडिकल खर्च भी तय होता है. महंगाई भत्ता कर्मचारी के मूल वेतन का एक निश्चित हिस्सा होता है. देश में महंगाई के असर को कम करने के लिए सरकार अपने कर्मचारियों को महंगाई भत्ते का भुगतान करती है. समय समय पर महंगाई के औसत अनुमान के आधार पर महंगाई भत्ते को बढ़ाया भी जाता है.