कोरोना सं’कट से जू’झ रहे देशों के लिए वैक्सीन को लेकर मिली बड़ी राहत

124

कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते ख’तरे को देखते हुए दुनियाभर में वै’क्सीन बनाने के लिए लगातार कोशिश की जा रही है. इसके लिए अन्य देशों के साथ साथ भारत भी लगातार कोशिश कर रहा है. ताकि जल्द से जल्द कोरोना वैक्सीन बनाई जा सके. और इसका इलाज बेहतर तरीके से किया जा सके. दरअसल आज पूरा विश्व कोरोना से जं’ग ल’ड़ रहा है

इसी के बीच एक अच्छी खबर सामने आई है. दरअसल कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर दुनियाभर में  काम किया जा रहा है. ताकि वैक्सीन बन सके. जिसके बाद अब अमेरिका में एक कंपनी का ट्रायल फेज टू में पहुंच गया है. जबकि चीन में एक वैक्सीन फेज टू पूरा कर चुकी है और अगले साल की शुरुआत तक मार्के’ट में उतारी जा सकती है. इसके अलावा रूस अपनी वैक्सीन का ट्रायल दो हफ़्तों के अंदर शुरू करने वाली है और अगले हफ्ते से कोविड-19 के मरीजों के इलाज में Avifavir नाम के ड्र’ग का इस्‍तेमाल होगा.

दरअसल किसी भी वैक्सीन को बनाने में कई साल का समय और रि’सर्च लग जाता है. जिसके बाद वैक्सीन बन कर तैयार होती और मार्केट में आती है. लेकिन अभी हालात दूसरे है. दरअसल कोरोना की वजह से लाखों लोगो की मौ’त हो चुकी है. जिसकी वजह से ज्यादातर देश जल्द से जल्द वैक्सीन बनाने के लिए हर सं’भव कोशिश कर रहे है ताकि वैक्सीन बनने और उसके बेहतर प्र’माण मिलने पर उसे मार्केट में उतारा जा सके और कोरोना का इलाज किया जा सके.

हालाँकि इस माम’ले में चीन की कई कंपनिया वैक्सीन बनाने की दिशा में काफी तेज़ी से काम कर रही है. लेकिन जब तक कोई वैक्सीन असरदार न साबित हो जाये तब तक उसे मार्केट में न ही उतारा जा सकता है और न इलाज के लिए उपयोग में लाया जा सकता है.