राज्यसभा चुनाव को लेकर हर तरफ हलचल तेज हो गयी है. गुजरात में कांग्रेस के 5 विधायकों ने इस्तीफा देकर पार्टी को बड़ा झटका दे दिया था. जिसके चलते अब गुजरात में कांग्रेस की 2 राज्यसभा सीटें जीतने की उम्मीद टूट गयी है. 1 सीट के लिए 37 वोटों की जरुरत होती है. 5 विधायकों के इस्तीफे के बाद अब कांग्रेस का आंकड़ा कम हो गया है जिससे पार्टी को बड़ा झटका लगा है. वहीं ये भी बताया जा रहा है कि अभी 1 दर्जन और भी विधायक क्रॉस वोटिंग करके बड़ा झटका दे सकते हैं.

जानकारी के लिए बता दें वहीं सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया था. आज 19 मार्च को उन्होंने राज्यसभा के सदस्य के रूप में शपथ ले ली है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नामांकित किया था. उनको राज्यसभा भेजने के चलते विपक्षी दल जमकर हंगामा कर रहे हैं और निशाना साधर रहे हैं.

आज 19 मार्च को जब रंजन गोगोई राज्यसभा के सदस्य के लिए शपथ ले रहे थे तो विपक्ष के कुछ नेताओं ने सदन में हंगामा मचाना शुरू कर दिया और शेम शेम के नारे लगाये. वहीं विपक्षी नेताओं की इस हरकत और नारेबाजी को लेकर राज्यसभा सांसद हो चुके पूर्व चीफ जस्टिस गोगोई ने बड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कड़ा जवाब दिया है.

राज्यसभा सांसद हो चुके गोगोई ने कहा है कि ‘जो लोग मेरा विरोध कर रहे हैं, वे जल्द ही मेरा स्वागत करेंगे.’ वहीं जब उनके नाम की राज्यसभा के लिए घोषणा हुई थी तब भी विपक्षी नेताओं ने सवाल उठाये थे. इसके जवाब में भी उन्होंने यही कहा था कि शपथ लेने के बाद मैं सभी को जवाब दूंगा कि क्यों मुझे ये दायित्व दिया गया है. उन्होंने कहा था कि मैं मीडिया को विस्तार से बताऊंगा कि मैंने इसे क्यों स्वीकार है और राज्यसभा क्यों जा रहा हूँ.