सन्यास के बाद इस खिलाड़ी ने की मैदान पर वापसी

2352

मास्टर ब्लास्टर के नाम से पहचाने जाने वाले सचिन रमेश तेंदुलकर. जिन्होंने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर में अपने नाम कई रिकॉर्ड दर्ज किये है. भारतीय क्रिकेट टीम की एक वक़्त तक बैकबोन कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर, जब रिटायरमेंट के बाद रविवार को दोबारा स्टेडियम में बल्ला लेकर खलेने उतरे तो उनके फैंस फिर से सचिन सचिन की आवाज देने लगे जिसका जिक्र सचिन ने अपने रिटायरमेंट स्पीच के टाइम की थी. लेकिन, इस बार सचिन ऑस्ट्रेलियाई टीम की जर्सी पहनकर मैदान पर उतरे थे. दरअसल, ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग से हुए नुकसान और इससे पीड़ितों के लिए धन जुटाने के लिए ‘बुशफायर क्रिकेट बैश’ मैच खेला गया जिसमें सचिन पारी के ब्रेक के दौरान खेलने उतरे थे.

करियर में कुल 100 इंटरनैशनल शतक लगाने वाले सचिन ने 5 साल बाद बल्ला थामा और पहली ही बॉल पर चौका लगाया. उन्हें एलिसी पैरी ने गेंदबाजी की और सचिन ने गेंद को बाउंड्री के पार भेज दिया. इससे पहले सचिन ऑल-स्टार्स सीरीज में सचिन ब्लास्टर्स टीम के लिए नवंबर 2015 में टी20 मैच खेले थे और तब उन्होंने 56 रन बनाए थे.

‘गॉड ऑफ क्रिकेट’ के नाम से मशहूर सचिन तेंदुलकर इस मैच के दौरान एक ओवर बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर बल्लेबाजी करने आए. ऑस्ट्रेलिया की महिला टीम की स्टार ऑलराउंडर एलिसे पैरी द्वारा दी गई चुनौती की बदौलत हुआ, उन्होंने बुशफायर चैरिटी मैच में पारी ब्रेक के दौरान सचिन को गेंदबाजी की. यह चैरिटी मैच ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग एकादश और एडम गिलक्रिस्ट एकादश के बीच मेलबर्न जंक्शन ओवल में खेला गया.

पैरी ने शनिवार को सोशल मीडिया पर सचिन को चुनौती दी थी. जिसे दिग्गज बल्लेबाज सचिन ने तुरंत स्वीकार कर लिया. सचिन ने ट्वीट किया, ‘शानदार, मैं ऐसा करना पंसद करूंगा और एक ओवर बल्लेबाजी करना चाहूंगा. हालांकि कंधे की चोट के कारण डॉक्टर ने मुझे ऐसा करने से मना किया है. ऑस्ट्रेलियन वुमन क्रिकेट टीम के टि्वटर हैंडल पर ऐलिसे ने कहा, ‘हाय सचिन, बुशफायर मैच के लिए आपको यहां देखकर हमें बहुत खुशी हो रही है. मैं जानती हूं कि आप एक टीम को कोचिंग कर रहे हैं, पर कल रात हम यूं ही बात कर रहे थे और तभी विचार आया कि क्या आप कल ब्रेक के दौरान मेरी गेंदबाजी पर एक ओवर बल्लेबाजी करेंगे. मुझे आपको गेंदबाजी करके बहुत खुशी होगी.’