“भले ही मुझे मार डालो लेकिन मेरी फोटो अपलोड मत करो” इस रिपोर्ट को पढ़कर लड़कियों के रौंगटे खड़े हो जायेंगे

864

“लड़की लड़के के सामने गिडगिडाती रही, भले ही मुझे मार डालो पर प्लीज फोटो अपलोड मत करो “ लेकिन लड़के ने एक ना सुनी…और अंजाम जो हुआ उसे सुनकर आपके रौंगटे खड़े हो जायेंगे
ये कोई कहानी नही है बल्कि हकीकत है उस लड़की की, जो PSC की तैयारी के साथ-साथ MSC भी कर रही थी. घरवालों के लिए वो पढने में बेहद होशियार और होनहार थी.
लड़की का नाम था पूनम (चौकियेगा मत, एक जिम्मेदार मीडिया संस्थान होने के नाते हमने इस लड़की का नाम बदल दिया है लेकिन एक जिम्मेदार मीडिया संस्थान होने के नाते यह बताना भी आवश्यक समझते हैं कि लड़की हिन्दू थी)

पूनम का अफेयर फिरदौस आलम… जी हाँ फिरदौस आलम के साथ चल रहा था …. फिर एक दिन वो हुआ जिसकी कल्पना पूनम ने कभी नही की होगी….वही हुआ जो अक्सर इस तरह के रिश्ते में होता आया है… अचानक पूनम के पास फिरदौस आलम उसके कुछ पर्सनल फोटो सेंड करने लगा..

जी हाँ पर्सनल फोटो.. जो लड़कियां अक्सर अपने प्रेमियों के कहने पर भरोसे में आकर उन्हें भेज देती हैं. बाद में किसी वजह से जब अलगाव होता है तो कुछ लड़के उन फोटोज को वायरल कर देते हैं..बिना ये सोचे की लड़की और उसके परिवार वालो पर क्या बीतेगी .. इस तरह के फ़ोटो वीडियो जमकर लकड़ों के WHATSAPP ग्रुप और अश्लील वेबसाइटस पर वायरल होती रहती हैं और कई बार ब्लैकमेलिंग और आत्महत्या जैसी घटनाएं भी सामने आ जाती हैं

ऐसा ही कुछ हुआ पूनम के साथ…. फिरदौस आलम की ये हरकत उसने सपने में भी नही सोची होगी…कितना भरोसा था उसे अपने फिरदौस पर…..

अपनी पर्सनल फोटो देखते ही पूनम घबरा गयी और फिरदौस के सामने गिडगिडाने लगी…विनती करने लगी….
वो बात बार कहती रही “भले मुझे मार डालो, लेकिन प्लीज मेरी फोटो मत डालो” लेकिन फिरदौस आलम बार बार फोटो अपलोड करने की धमकी देता रहा
ख़बरों के मुताबिक़ फिरदौस पूनम से मिलना चाहता था.. वक़्त बदल चुका है जब एक लड़का एक लड़की से मिलना चाहता है तो उसका मतलब कुछ अलग ही होता है …… पूनम फिरदौस से मिलना नही चाहती थी इसीलिए फिरदौस बार बार पूनम को धमकी दे रहा था. यहाँ लडको को समझना चाहिए कि जब लड़की की इच्छा ना हो तो इस तरह की जबरदस्ती मर्दानगी नही होती…

फिरदौस आलम की बार बार धमकी से परेशान पूनम ने दोपहर 12:40 मिनट पर आखिरी मैसेज सेंड कर आत्महत्या कर ली.. घरवालों को पता चला तो वो अस्पताल ले गये लेकिन पूनम मर चुकी थी. माँ बाप ये सोचने को मजबूर थे कि इस सब में पूनम का क्या कसूर था.
प्यार करना या गलत शख्स से प्यार करना ?
फिरदौस आलम से पूनम की मुलाक़ात चांदनी चौक की एक मोबाइल की दूकान पर हुई थी..पूनम अपना खराब मोबाइल लेकर उसकी दूकान पर गयी थी और इसी वजह से उसे पूनम का नंबर मिल गया था.

अक्सर ऐसी दुकानों पर एक विशेष समुदाय के लोग लड़कियों के नंबर निकाल कर अपने दोस्तों में भी बाँट दिया करते हैं. बिना ये सोचे कि लड़कियों का नंबर बड़ा पर्सनल होता है, ये कोई बाँटने की चीज नही है. इस तरह की घटनाओं की इस समय देश में भरमार हैं.

यहाँ लड़कियों से हम एक अपील करना चाहते हैं आप किसी के साथ दोस्ती कर रहे हैं. तो अपने साथी को पूरी तरह जांच परख जरूर लें.. और भले ही आपका रिश्ता कितना भी गंभीर क्यूँ न हो विश्वास में आकर अपनी व्यक्तिगत तस्वीरों और विडियो को शेयर न करें कभी कभी साथी की गलती या फिर कभी कभी तकनीकी कारणों से भी आपकी व्यक्तिगत चीज़े इन्टरनेट पर आकर आपकी जान और इज्जत जोखिम में डाल सकती है

सतर्क रहें सुरक्षित रहें ..