गाजियाबाद में घर जाने को लेकर उ’मड़ी भीड़ के बीच में उ’ड़ी सोशल डि’स्टेंसिंग की ध’ज्जियां

210

लॉकडाउन के चौथे चरण की शुरुआत आज से हो गयी है. जिसमें सरकार ने लोगो को राहत देते हुए कुछ ढी’ल दी थी. वही पहले की तरह ही देश को जोन में बाँ’टा गया है. इसी के साथ सरकार ने कुछ नि’र्देश के साथ लोगो को कंपनी और फैक्ट्री खोलने की भी इ’जाजत दी थी. जिसमें सीमित लोगो की संख्या होना अ’निवार्य था. ताकि लोग लोग काम न होने की वजह से इधर उधर जा रहे है वो वापस अपनी काम पर लौट सके.

इसी के बीच एक बार सोशल डि’स्टेंस के निय’मों की धज्जि’यां उड़ते देखते को को मिली. दरअसल हुआ यह है कि गाजियाबाद में श्रमि’क ट्रेन के लिए वेरिफि’केशन करवाने के लिए हजारों की संख्या में मजदूर एक साथ रामलीला मैदान में इ’कट्ठा हो गए. बता दें UP और बिहार के अलग अलग कोनो में आज यहाँ से तीन ट्रेने चलायी जा रही है. दरअसल यात्रा से पहले मजदूरों की थ’र्मल स्क्री’निंग और पेपर वेरिफि’केशन के लिए उन्हें रो’का गया था. लेकिन देखते देखते मजदूरों की संख्या एक साथ बढ़ गयी जिसके बाद प्र’शासन की सारी तैयारी ध’री की ध’री रह गयी.

वही गाजियाबाद के डीएम के अनुसार  बिहार के लिए गाजियाबाद से तीन ट्रेनें चलाई गई हैं जो 1200 प्रति मजदूर ट्रेन से लेकर बिहार जाएंगी और आज करीब 3600 मजदूरों को बिहार भेजा जाएगा.  इसके अलावा लखनऊ, गोरखपुर के मजदूरों को भी यहां से भेजा जाएगा. जाहिर है UP सरकार मजदूरों को उनके घर भेजने के लिए प’र्याप्त सुवि’धाये कर रही है ताकि लोग भी मजदूर पैदल चल कर न जाए. लेकिन वहीं है एक साथ इतने मजदूरों की भीड़ उ’मड़ जाने से स्थि’ति बे’हाल हो गयी है लेकिन अभी स्थि’ति को सं’भाल लिया गया है.

.