कोरोना फैलाने वाले चीन के पीछे पड़ी दुनिया, अब जर्मनी ने चीन के खिलाफ उठाया कदम और कहा हिसाब चुकाओ

10231

चीन के कोरोना वायरस ने जिस तरह से पूरी दुनिया, खासकर अमेरिका और यूरोप में कहर बरपाया उससे पूरी दुनिया में चीन के खिलाफ गुस्से की लहर है. सारे देश अब चीन के पीछे पड़ गए हैं. कभी टॉप की अर्थव्यवस्था रहने वाले यूरोपीय देशीं की अर्थव्यवस्था कोरोना की वजह से चरमरा गई. ऐसे में सारे देश इसके पीछे चीन की आशंका देख रहे हैं. अमेरिका ने तो चीन को चेतावनी देते हुए कह दिया है अगर इसके पीछे चीन की साजिश हुई तो उसे कीमत चुकानी पड़ेगी. अब जर्मनी ने भी चीन से कहा है कि हिसाब चुकाओ.

जर्मनी में अब तक कोरोना से डेढ़ लाख लोग संक्रमित हैं जबकि 4500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. जर्मनी कई दिनों से लॉकडाउन है इस कारण उसकी अर्थव्यवस्था की भी कमर टूट गई. जर्मनी में कोरोना ने भारी तबाही मचाई है. इस तबाही से गुस्साए जर्मनी ने चीन से हिसाब चुकता करने के लिये कहा है. जर्मनी से चीन से हर्जाने की मांग की है. जर्मनी वो पहले देश है जिसने चीन को कोरों का सीधे सीधे जिम्मेदार बताते हुए हर्जाना माँगा है. शायद आने वाले दिनों में कुछ और देश भी ऐसे ही कदम उठाये.

जर्मनी तो चीन से इतना भड़का हुआ है कि उसने चीन को 149 बिलियन यूरो का बिल भेजा है, ताकि कोरोना वायरस से हुये नुकसान की भरपाई की जा सके. इसमें टूरिज्म से हुये नुकसान के 27 बिलियन यूरो, फिल्म इंडस्ट्री को हुए नुकसान के 7.2 बिलियन यूरो, जर्मन एयरलाइंस और छोटे बिजनेस को हुये 50 बिलियन यूरो के नुकसान का बिल चीन को भेजा गया है. और इसे चुकाने को कहा है.

अमेरिकी टीम पहले ही चीन की जाँच करने को बैठी है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अमेरिका इस बात की जांच कर रहा है कि क्या यह जानलेवा वायरस चीन की लैब से पैदा किया गया है. अगर ऐसा होता है तो और अब जर्मनी की तरफ से मिले भारी भरकम हर्जाने के बाद वो घिर गया है. चीन हर देश के निशाने पर है.