क’श्मीर की आ’ज़ादी मांगने वाली लड़की फं’स गई तो बोली- ‘मैं फ्री क’श्मीर नहीं बल्कि फ्री…’

3863

मुंबई में सोमवार को JUN में हुई हिं’सा के विरोध में गेटवे ऑफ इंडिया पर वि’रोध प्र’दर्शन किया गया. जिसमें छात्रों ने नारेबाजी और छात्रों के साथ हुई मा’रपी’ट के वि’रोध में दो’षियों को पकड़ने की मांग की. बता दें इस वि’रोध प्र’दर्शन में छात्रों के साथ, सामजिक संस्था और फ़िल्मी सितारे भी शामिल हुए. दरअसल पूरा मामला रविवार शाम को JNU में हुए छात्रों के साथ मा’रपीट को लेकर था जिसके बाद से इस घटना ने तूल पकड़ लिया. जहां राजनितिक पार्टियां एक दुसरे पर आ’रोप लगा रही हैं. वहीं मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर इसके खि’लाफ प्र’दर्शन देखने को मिला.

बता दें जहां एक तरफ प्र’दर्शन’कारी ना’रेबाजी कर रहे थे. वहीं एक छात्रा ‘फ्री क’श्मीर’ के पोस्टर को लेकर खड़ी थी. जिसके वायरल होते ही सि’यासी घ’मासान शुरू हो गया. पोस्टर के वायरल होते ही सोशल मीडिया पर छात्रा ने विडियो मैसेज जारी किया. जिसमें छात्रा ने अपनी मं’शा को साफ़ करते हुए कहा कि 6 जनवरी को जब वो गेटवे ऑफ इंडिया पहुंची तो उसने वहां पर प्लेकार्ड देखा और उठा लिया. उसने पोस्टर सिर्फ कश्मीर में रह रहें लोगों के लिए इन्टरनेट सुविधा को चालू करने को लेकर पकड़ा था. इसके अलावा फ्री कश्मीर को लेकर उसकी कोई और मं’शा नहीं थी.उसने अपनी विडियो में कहा कि उसके अनुसार अगर हम कश्मीरियों को अपनी तरह ही समझते हैं, तो उनको हमारे ही जैसी सुविधा भी मिलनी चाहिए. उनको क्यों 5 महीने से इन्टरनेट की सुविधा से वंचित रखा गया हैं.

इस विडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही इस छात्रा को ट्रोल करना चालू हो गया हैं. जिसके बाद से इस पर लगातार मैसेज आना शुरू हो गए. वहीं देवेंद्र फडणवीस ने सीएम उद्धव ठाकरे से पूछा कि क्या उनको फ्री कश्मीर वाले अभियान देश में ब’र्दास्त है. इसी के साथ फडणवीस ने विडियो जारी करते हुए कहा कि यह फ्री कश्मीर को लेकर किस तरह का वि’रोध प्र’दर्शन हैं. फ्री कश्मीर को लेकर नारे क्यों लगाये जा रहे हैं. हम मुंबई में इस तरह के अ’लगावादी को कैसे ब’र्दाश्त कर सकते हैं.