अयोध्या पर ऐतिहासिक फैसला सुनाने वाले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नामित किया गया है. केंद्र सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर इस बात का ऐलान किया. रंजन गोगोई को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के लिए नामित किया है. राज्यसभा में 12 सदस्य राष्ट्रपति की ओर से मनोनीत किए जाते हैं. ये सदस्य अलग-अलग क्षेत्रों की जानी मानी हस्तियां होती हैं.

चीफ जस्टिस के रूप में रंजन गोगोई का कार्यकाल साढ़े 13 महीनों का रहा. इस दौरान उन्होंने कई ऐतिहासिक फैसले सुनाये. अयोध्या, असं NRC, राफेल विवाद जैसे मामलों पर रंजन गोगोई ने ऐतिहासिक फैसले सुनाये थे. हालाँकि उनका कार्यकाल काफी विवादों में भी रहा. उनपर यौ’न उत्पी’ड़न के आरोप लगाए गए. हालाँकि बाद में वो उन आरोप से मुक्त हो गए. अयोध्या पर फैसले की वजह से वो वामपंथी गैंग के निशाने पर भी आये.

गोगोई पिछले साल 17 नवंबर 2019 को सीजेआई के पद से हुए थे रिटायर हुए थे. वह पूर्वोत्तर से सर्वोच्च न्यायिक पद पर पहुंचने वाले इकलौते शख्स हैं.