कमलनाथ ने अनु’सूचित ज’नजाति को लेकर किया अभ’द्र भाषा का प्रयोग, एफ’आई’आर हुई द’र्ज

396

मध्य प्रदेश अभी तक कोरोना वायरस की वजह से लाइम लाइट में बना हुआ हैं. लेकिन इन सबके बीच एमपी में राजनीति भी गरमा रही हैं. पूर्व सीएम कमलनाथ को लेकर इस वक़्त के मुखिया शिवराज सिंह ने उनके खि’लाफ कीये गए काम की जाँच करवानी शुरू कर दी है. शायद इसको लेकर कमलनाथ को डर सता रहा हैं. इस वक़्त कमलनाथ अपने चुनाव छेत्र छिंदवाडा में हैं.

इसी बीच जब छिंदवाडा में उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए बीजेपी पर खूब ह’मला किया. उनके द्वारा बीजेपी पर किये गए हमले में बीजेपी ने उनक एक सवाल को लेकर आप’त्ति जताई है. बीजेपी की जिला ईकाई एवं अनुसूचित जनजाति मोर्चा ने उनके बयान को एक वर्ग विशेष के खिला’फ बताते हुए एससी-एसटी थाने में शिका’यत द’र्ज कराई है.

कमलनाथ से जब एक पत्रकार ने सिंचाई घो’टाले की जांच संबंधित सवाल पूछा था. इसके जवाब में कमलनाथ ने जो कहा, उसी को लेकर अनुसूचित जनजाति मोर्चा ने आपत्ति जताई है. मोर्चा ने कामनाथ पर आ’रोप लगाया है कि उन्होंने अपने बयान में आपत्ति’जनक और अम’र्यादित शब्द का प्रयोग कर एक समाज विशेष को अपमा’नित किया है.

कमलनाथ के इस बयान को लेकर बीजेपी के जिलाध्यक्ष विवेक बंयी साहू ने कहा कि ‘बयान में जो शब्द पूर्व सीएम ने इस्तेमाल किए हैं, वो बहुत आप’त्तिजनक हैं.’ वहीं दूसरी तरफ  अनुसूचित जनजाति मोर्चे के अध्यक्ष ने कहा कि ‘पूर्व सीएम के इन शब्दों से हमें अप’मान महसूस हुआ है’. इसीलिए इसकी हम शि’कायत भी दर्ज करवा रहे हैं. पूर्व सीएम कमलनाथ ने हमारी जाती को लेकर अ’भद्र भाषा का प्रयोग किया हैं.