क्या थी स्वीडन के पिउडीपाई और टी-सीरीज़ के सब्सक्राइबर युद्ध के बीच की कहानी

286

दो यू-ट्यूब चैनल्स में बीच में सब्सक्राइबर्स.की दौड़ शुरू हुए थी . इस दौड़ में शामिल थे स्वीडन का पिउडीपाई और भारत का टी-सीरीज़, पर ऐसा क्या मामला था सब्सक्राइबर्स. का जिससे पूरे youtube पे खलबली मच गयी थी , आखिर क्यों पूरी दुनिया इस सब्सक्राइबर युद्ध को कितना सीरियसली ले रही थी .सब्सक्राइबर्स के हिसाब से दुनिया का नंबर वन youtube चैनल पिउडीपाई का चल रहा था , फिर एक टाइम आया जब टी-सीरीज़ ने नंबर वन की पोज़ीशन हासिल कर ली थी इस कॉम्पिटीशन से बौखलाना कर पिउडीपाई ने एक गाना बनाया , जिसमे इंडिया के लोगों का उनकी अंग्रेज़ी का मजाक उड़ाया गया , जिसमें टी-सीरीज़ के साथ -साथ इंडियंस को भी पोक किया गया .


जिसमें टी-सीरीज़ के साथ -साथ इंडियंस को भी पोक किया गया, इसके बाद कैरी मिनाटी जिसे इंडिया के टॉप ten youtubers में काउंट किया जाते है ‘उन्होंने भी जवाव देने के लिए एक विडियो बनाया ,जो आज कल बहुत वायरल हो रहा है.


सभी लोगों ने प्रिडिक्ट किया था, कि अक्टूबर में टी-सीरीज़ पिउडीपाई को हरा देगा. और लोगों का ये प्रिडिक्शन सही भी साबित हुआ. लेकिन ये केवल कुछ समय के लिए रहा जब पिउडीपाई दूसरे नंबर पर पहुंचा ,क्योंकी के यू-ट्यूबर्स के सपोर्ट के चलते एक दो- दिन ही में कई सब्सक्राइबर्स पिउडीपाई चैनल के साथ जुड़ गए और टी-सीरीज़ पीछे हो गया. जहाँ वो लोग पूरी तरह सपोर्ट में थे उसके ,वही इंडिया के बड़े youtubers भुवन बम और अमित भडाना का सपोर्ट टी-सीरीज़ की तरफ बिलकुल नमात्र दिखा और ऐसा हम नहीं बल्कि उनके नोमिनल ट्वीट बता रहे थे , इनके मन में जो भी विचार रहे हो कि पिउडीपाई टी-सीरीज़.की तरह कोई बड़ा ग्रुप नहीं है , या वो इनके ही तरह सिंगल हैण्ड काम करता हो ,पर कम से कम कैरी मिनाटी से भी कुछ तो सीख लेते , पर बात यहाँ कोई ग्रुप की नहीं ,बल्कि देश की थी, इतना तो समझते कम से कम और भी बड़े म्यूजिक ग्रुप है बॉलीवुड और हॉलीवुड के पर अगर टी-सीरीज़ ही नंबर वन पर आया है ,इंडिया की तरफ से ,तो कुछ तो बात होगी ,टी-सीरीज़ में ये मत भूलिए ,आपके 10 milion में से ज्यादातर सब्सक्राइबर इंडिया के ही जिन्हें आपके चैनल को unsubscribe करने में टाइम नहीं लगेगा और थोडा बहुत तो कम से कम इन्हें वहां के youtubres से सीखना चाहिए ,की अपने देश के youtubeचैनल के सपोर्ट में कैसे उतरना चाहिए ,दूसरी तरफ पिउडीपाई नंबर एक पर बने रहने के लिए ढेरों जतन कर रहा है ,पर इसके बाद भी ज्यादा फर्क नहीं दिख रहा है


और ऐसा लगता है ,बिना कोई एक्स्ट्रा एफर्ट्स के टी-सीरीज़ ज़ल्द ही पिउ को पार कर जाएगा और फिर गैप भी इतना बढ़ता चला जाएगा,कि फिर टी-सीरीज़. हराना मुश्किल हो जाएगा. टी सीरीज़ ने इन सब के ज़वाब में वैसे कोई ख़ास कदम नहीं उठाया है. उनका तो कहना बस इतना है कि हम नंबर एक बनने से बस एक ‘छोटे से’कदम की दूरी पर हैं. कुछ भी हो पिउडीपाई का यूँ बोखलाना बनता भी है , क्योंकी अपनी सत्ता एक भारतीय यू-ट्यूब चैनल से गंवाता हुआ दिख रहा है.