दिल्ली की सड़कों पर मचे तांडव पर कंगना रनौत की दो टूक! दिलजीत के चेहरे पर ‘थप्पड़’ वाले बयान पर कंगना ने दिया ये जवाब….

देश का 72वां गणतंत्र दिवस था और पूरी दुनिया की नजर भारत पर थी. ऐसे समय में जब देशवासी खुशियों से झूम रहे थे तब एक ऐसी घटना हुई कि दुनियाभर में भारत को शर्मसार होना पड़ा. क्योंकि किसान आंदोलन की आड़ में अ’रा’ज’क’ता चरम शिखर पर पहुंच गया था.

आपको बता दें कि ट्रैक्टर मार्च के नाम पर किसानों ने देश की राजधानी दिल्ली की सड़कों पर तां’ड’व मचाया और अपनी अराजकता का का नं’गा नाच किया. इतनी ही नहीं उ’प’द्र’वि’यों ने लाल किले पर ढाबा बोला और अपना कब्ज़ा कर लिया. लाल किले पर कब्जे के बाद उपद्रवी उस पोल पर चढ़ गए जिस पर स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी तिरंगा फहराते हैं. उस पोल पर चढ़ने के बाद उपद्रियों ने सिखों का धार्मिक झंडा निशान साहिब फहरा दिया.

गणतंत्र दिवस के मौके पर देश की राजधानी दिल्ली में कहीं भी क़ानून व्यवस्था का नामो-निशान तक नहीं दिख रहा था. सड़कों पर बस हिंसक भीड़, प’त्थर ही प’त्थर और लाठी-डंडे दिख रहे थे. इस पूरे घटना के बीच किसान नेता गायब दिखे.

इस दौरान एक्ट्रेस कंगना रनौत सोशल मीडिया पर एक बार फिर एक्टिव नजर आईं. उन्होंने इस हिंसा की निंदा की और एक समय जब किसान आंदोलन की आड़ में दिलजीत दोसांझ ने कंगना पर निशाना साधा था. तो अब कंगना उनपर पलटवार करती दिख रही हैं. बता दें कि गणतंत्र दिवस के मौके पर हुए इस हिंसक प्रदर्शन के बाद ही कंगना ने लगातार किसान आंदोलन पर सवाल खड़े कर रही हैं.

इस बार फिर कंगना ने दिलजीत पर निशाना साधा. दरअसल, एक यूजर ने दिलजीत पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा था- किसानों का प्रदर्श दिलजीत के चेहरे पर थप्पड़ है. बता दें कि यूजर ने अपने इस ट्वीट में कंगना को टैग किया है और अब कंगना ने इस पर रिएक्ट भी किया. उन्होंने इस बार दिलजीत पर हमला करने के बजाय देशवासियों पर सवाल खड़े कर दिए.

उन्होंने कहा ये दिलजीत के चेहरे पर थप्पड़ नहीं हैं. यहीं तो वो चाहता था. उसे जो चाहिए था वो इस देश ने थाली में सजाकर दे दिया. कंगना का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर अब खूब वायरल हो रहा है. हालांकि अभी दिलजीत दोसांझ की ओर से कंगना के इस बयान पर पर कोेई रिएक्शन नहीं आया है.

Related Articles