ट्रैक्टर मार्च: गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली निकालने पर अड़े किसान, SC पर टिकी सबकी आस..

कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार और किसानों के बीच तकरार जारी है. जहां एक तरफ किसान अपनी मांगो से पिछे हटने को तैयार नहीं है तो वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने भी ये साफ कर दिया है कि चाहे कुछ भी हो जाए कानून रद्द नहीं होगा.

जानकारी के लिए बता दें कि 26 जनवरी को किसानों ने ट्रैक्टर मार्च निकालने का ऐलान किया है. और केंद्र सरकार के लाख जतन के बावजूद किसान अपनी इस जिद्द पर अड़े हुए हैं, इतना ही नहीं उन्होंने सरकार को ये रैली रोक के दिखाने की चुनौती भी देदी.

अब इस मसले पर केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से मदद की गुहार लगाई है. बता दें कि सोमवार को सुप्रीम कोर्ट इस मसले पर सुनवाई करेगा. दरअसल, केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक अर्जी दाखिल कर कहा है कि कुछ खुफिया एजेंसी द्वारा ये जानकारी दी गई है कि 26 जनवरी के मौके पर कुछ संगठन, ट्रैक्टर रैली करने का प्लान कर रहे हैं और इसे रोकने के लिए आदेश पारित किया जाए.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार का कहना है कि अगर गणतंत्र दिवस के अवसर पर यह रैली निकाली जाएगी तो इससे समारोह में सम्सया आ सकती है और कानून व्यवस्था पर भी सवाल खड़े हो सकते हैं. साथ ही साथ देश की प्रतिष्ठा को प्रदर्शन के नाम पर धूमिल नहीं किया जा सकता है.

अब इस मसले पर सभी की आस अब सुप्रीम कोर्ट से है. जहां किसान संगठनों ने ये साफ कर दिया है कि चाहे कुछ भी हो जाए रैली होकर रहेगी. तो वहीं केंद्र सरकार इसके सख्त खिलाफ है. और अब सुप्रीम कोर्ट से इस ट्रैक्टर मार्च को रोकने के लिए आदेश जारी करने की मांग कर चुका है. अब ये तो सोमवार को ही पता चलेगा की कोर्ट का फैसला किसके पक्ष में आता है. लेकिन एक बात तो तय है कि किसानों और केंद्र सरकार के बीच एक बार फिर गतिरोध तेज हो गया है.

Related Articles