गाज़ियाबाद में फर्जी गैंगरे’प का सनसनीखेज मामला, दो महिलाओं ने बनाया था सारा प्लान

5685

देश में जब भी कहीं रे’प जैसी शर्मनाक वारदात होती है तो दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग उठने लगती है. रे’प पीडिता पर क्या गुजरती है, ये सोचने की हम हिम्मत भी नहीं कर सकते. लेकिन दो महिला ने अपने साथ गैंगरे’प की पूरी कहानी रच डाली और सिर्फ इसलिए ताकि रे’प पीडिता को मिलने वाली वित्तीय सहायता राशि का फायदा उठा सकें.

घटना है दिल्ली से सटे गाज़ियाबाद के मसूरी थाना क्षेत्र की. देर रात पुलिस कण्ट्रोल रूम में फोन पर सूचना मिली कि मसूरी थाना क्षेत्र में एक महिला का गैंगरे’प कर सड़क किनारे फेंक दिया गया है. खबर मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और महिला को संजय नगर स्थित जिला अस्पताल में एडमिट कराया गया. लेकिन जल्द ही पुलिस को उस महिला पर शक होना शुरू हुआ.

प्रारंभिक पूछताछ में महिला ने बताया कि वो हापुड़ से लौट रही थी तो उसने छोटा हाथी (वाहन) से लिफ्ट लिया लेकिन रास्ते में गाडी के ड्राईवर और उसके सहयोगी ने गैंगरे’प किया और सड़क किनारे फें’क दिया. लेकिन जब पुलिस ने महिला को हॉस्पिटल में एडमिट कराया तो महिला ने मेडिकल जांच कराने से साफ़ मना कर दिया जिसके बाद पुलिस को उस महिला पर शक हुआ. इसके अलावा पुलिस ने गौर किया कि एक अन्य महिला उस कथित पीडिता के आसपास मंडरा रही है और अस्पताल में ताकाझांकी कर रही है.

पुलिस ने जब उससे ताकाझांकी की वजह पूछी तो महिला घबरा गई. फिर कड़ाई से पूछताछ में दूसरी महिला ने सारा प्लान उगल दिया. उसने बताया कि पूरा प्लान फर्जी तरीके से गैंगरे’प की पीडिता बनकर पीडिता को मिलें वाली सरकारी सहायता राशि हासिल करना था. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.