जहाँ एक तरफ हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन दवा कोरोना के लिए हो रही थी कारगर वहीँ FDA ने इसको लेकर दी ये बड़ी चेतावनी

देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया इस समय कोरोना जैसी महामारी से जूझ रही है. पूरे देश में 3 मई तक के लिए लॉकडाउन चल रहा है. इसके बावजूद भी मरीजों की संख्या में हर दिन जबरदस्त उछाल आ रहा है. केंद्र सरकार और राज्य सरकारें लगातार एक के बाद एक करके बड़े कदम उठा रही हैं ताकि इस संकट के दौर से निकला जा सके लेकिन हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं.

जानकारी के लिए बता दें भारत इस संकट की घड़ी में अन्य देशों के लिए भी उम्मीद की किरण बनकर उभर रहा है. भारत ने ऐसे समय में भी अमेरिका सहित कई देशों को मलेरिया रोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन भेजी है जोकि कोरोना के इलाज में कारगर साबित हो रही है. भारत इस दवा का सबसे बड़ा निर्यातक देश है. जिसके चलते भारत दरियादिली दिखाते हुए अन्य देशों की भी मदद कर रहा है लेकिन ऐसे में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन दवा को लेकर बड़ी बात सामने आई है.

FDA ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन को लेकर बड़ी चेतावनी दी है. कोरोना के संकट में जहाँ इस दवा की सबसे ज्यादा जरुरत है और लोग इसको बड़े स्तर पर मांग रहे हैं और इस बीमारी में कारगर भी साबित हो रही है. वहीँ FDA ने इस दवा को लेकर चेतावनी देते हुए कहा है कि ये हार्ट के लिए खतरनाक है. अमेरिका की खाद्ध एवं औषधि प्रशासन ने मलेरिया के उपचार में काम आने वाली हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन दवा को लेकर चेताया भी है.

गौरतलब है कि FDA ने कहा है कि इस दवा के दुष्प्रभावों से ह्रदयगति से जुड़ी गंभीर और जानलेवा बीमारी हो सकती है. FDA के आयुक्त स्टीफन एम हाँ ने कहा है कि हम जानते हैं कि स्वास्थ्य देखभाल कर्मी अपने मरीजों के लिए हर संभव मदद देख रहे हैं. उन्होंने कहा है कि कोरोना के उपचार में ये दवाएं कितनी कितनी सुरक्षित और प्रभावी हैं ये पता लगाने के लिए हर दिन परिक्षण चल रहे हैं. वहीँ कई रिपोर्ट में ये भी संकेत दिए गये हैं कि मलेरिया की यह दवा कोरोना के मरीज के लिए शुरुआत में तो फायदा देती है लेकिन बाद में ये ह्रदय रोग से पीड़ित लोगों के लिए ये घातक है.