दिल्ली के शिव विहार में पकड़ी गई ते’ज़ा’ब फैक्ट्री, यहीं से हुई थी पूरे नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में के’मिक’ल और ए’सि’ड की सप्लाई

1597

एक तरफ नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में दं’गों के बाद हालात सामान्य होने की तरफ बढ़ रहे हैं वहीँ दूसरी तरफ दं’गों से जुड़े सनसनीखेज खुलासे हो रहे हैं. हिं’सा से सबसे ज्यादा प्रभावित शिव विहार इलाके में ते’ज़ा’ब और के’मिक’ल की फैक्ट्री पकड़ी गई है. इस फैक्ट्री के अन्दर कई टैंकरों में ते’ज़ा’ब और के’मिक’ल भरे हुए थे. किसी को शक ना हो इसलिए टैंकरों के ऊपर गंगाजल लिखा हुआ था. इस फैक्ट्री का मालिक फिरोज खान है.

दंगों के दौरान पूरी नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में इसी फैक्ट्री से ए’सि’ड और के’मिक’ल की सप्लाई की गई थी. गौरतलब है कि AAP से निलंबित विधायक ताहिर हुसैन के घर की छत पर भारी मात्रा में पेट्रोल, ए’सि’ड और के’मिक’ल बरामद किये गए थे. आशंका जताई जा रही है कि वहां तक ये सब त’बा’ही का सामना इसी फिरोज खान की फैक्ट्री के जरिये पहुंचा था. हिं’सा के दौरान जब दं’गाइ’यों पर पुलिस कारवाई करने पहुंची तो उनपर के’मिक’ल और ते’ज़ा’ब से हमला हुआ. छतों से सुरक्षाकर्मियों के ऊपर ते”ज़ा’ब गिराए गए थे. जिसके बाद उन्हें GTB अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

फिरोज खान की इस मौ’त की फैक्ट्री में 500-500 लीटर वाले कई टैंकर थे और उन सभी में ते’जाब, स’ल्फ्यूरि’क ए’सि’ड, स’ल्फ’र वगैरह भरे हुए थे. फिरोज खान के इस मौ’त की फैक्ट्री को छुपाने के लिए आगे दीपक बैंड का बोर्ड लगा था. इस फैक्ट्री के आसपास रिहायशी इलाका है, बच्चों के स्कूल हैं. ऐसे में इस क्षेत्र में के’मिक’ल फैक्ट्री चलाने की इजाजत कैसे मिली ये जांच का विषय है. जैसे जैसे दं’गों की जांच आगे बढ़ रही है वैसे वैसे ये बात भी साफ़ होता जा रहा है कि हिं’सा फैलाने की तैयारियां काफी पहले से और काफी बड़े पैमाने पर की गई थी.