क्या है INDIAN ARMY और इस युवक की वायरल विडियो का सच

567

पुलवामा आतंकी हमले के बाद से सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब शेयर हो रहा है, जिसमें कुछ लोग एक युवक को बुरी तरह से पीटते हुए दिख रहे हैं… वीडियो के साथ दावे में यह बताने की कोशिश की जा रही है कि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इस संदिग्ध को पकड़ा है और पीट-पीट कर पूछताछ कर रही है…इस वीडियो में ये आदमी खटिया से बंधा हुआ दिख रहा है… दो लोग उसे चौड़े बेल्ट से बेरहमी से पीट रहे हैं और वह दर्द से चीख रहा है… वीडियो के कैप्शन में लिखा है – जम्मू से कई संदिग्ध पकड़े जा चुके हैं… हमले का बदला लिया जाएगा…पहले बड़े प्यार से पूछताछ चल रही है, पकड़े गए गद्दारों से… लेकिन द चौपाल ने जब शुरू की तो हमने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल वीडियो का हिरासत में लिए संदिग्धों से कोई लेना देना नहीं है… यह वीडियो पिछले साल सितंबर से सोशल मीडिया पर उपलब्ध है और युवक को पीट रहे लोग इंडियन आर्मी के नहीं बल्कि पाकिस्तान आर्मी के हैं.

पाकिस्तान के जाने माने पत्रकार हामिद मीर ने 21 सितंबर को एक एक विडियो ट्वीट किया जिसमें एक लड़के को कुछ लोग बेरहमी से पीट रहे है मीर ने अपने ट्वीट में इस विडियो को भारतीय सेना द्वारा कश्मीरी युवाओं पर हो रहे अत्याचारों का सबूत बताया था .. अपने ट्वीट में हामिद मीर ने लिखा है, ‘इस टॉर्चर को देखिए और देखें यह टॉर्चर कौन कर रहा है? लोग समझ सकते हैं कि भारत पाकिस्तान के साथ वार्ता के लिए तैयार क्यों नहीं है? हां पाकिस्तान बेशक इस टॉर्चर पर सवाल करेगा..अब हम आपको गहराई से बताते है सच क्या है? यह विडियो भारतीय सेना के किसी कश्मीरी युवक को पीटे जाने का नहीं बल्कि हामिद मीर ने जो विडियो ट्वीट किया है वह पाकिस्तानी सैनिकों द्वारा पश्तून युवक को बुरी तरह पीटने का है.. पश्तून वो लोग होते है जो पाकिस्तान का विरोध करते है ,…और पाकिस्तान से अलग होने की मांग करते है


वैसे हामिद मीर ने इस विडियो को ट्वीट करने से पहले पूरी तरह पड़ताल नहीं की..विडियो के पहले 17 और 20 सेकंड में साफ देखा जा सकता है कि शख्स को सिर से पकड़ने वाले जवान के कपड़ों पर सीने के पास पाकिस्तानी झंडा साफ साफ दिख रहा है… विडियो से स्क्रीनशॉट लेकर, ब्राइटनेस बढ़ाकर हमने दो तस्वीरें ली है ताकि आपको साफ दिखे .. जिन्हें नहीं पता, उन्हें बता दें कि पाकिस्तान का का झंडा ऐसा ही दिखता हो … विडियो में बलूच/पश्तून शख्स को पीटने वाले सैनिक ने जो जूते पहने हैं, वह पाकिस्तानी सैनिक ही पहनते हैं..आप देख सकते है की विडियो के स्क्रीन शोर्ट और इन तस्वीरों में जो जूते दिख रहे है वो सेम है ..आपको यहाँ ये भी बता दे की , ‘भारतीय सेना सिर्फ DMS (डायरेक्टली मॉड्यूल्ड सोल) वाले जूते इस्तेमाल करती है.. पाकिस्तानी सेना मटमैले रंग के जूते पहनती है।भारतीय सेना के जवानों द्वारा इस तरह का टॉर्चर किए जाने का सव सवाल ही नहीं उठता… पश्तून और बलूचों जैसे जातीय माइनॉरिटीज के साथ हमेशा पाकिस्तानी सेना दुर्व्यवहार करती है। यह उन्हीं में से किसी एक मामले का विडियो है..

जब हमने और पड़ताल की तो देखा कि यही विडियो 5 जुलाई, 2018 को बलूच रिपबल्किन पार्टी के प्रवक्ता शेर मोहम्मद बुगती के वेरिफाइड ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया था। अपने ट्वीट में बुगती ने लिखा था, ‘कृपया ध्यान दें… क्रूर पाक सेना का अमानवीय, अपमानजनक व्यवहार, मासूम बलूच छात्र को शारीरिक प्रताड़ना।’ अब आपको बहुत ही साफ़ और आसान तरीके से ये समझ में आ गया होगा की ऐसी क्रूरता कभी हमरे जवान कर ही नहीं सकते …तो हमरे जवानों के नाम पर ऐसी कोई फेक विडियो को न फैलाये जिसकी सच्चाई आपको पता नहीं हो ..और मीर साहब से भी यही कहना चाहूंगी की जर्नलिस्ट होने के नाते पड़ताल करके ही ऐसे ट्वीट करे नै तो ये आपके उपर ही उल्टा पड़ेगा.